Varanasi धर्म-कर्म 

झूलेलाल की जयंती मनाई गई : दो साल बाद मनाया गया उत्सव, झांकी निकाली गई, रास्ते भर बांटा प्रसाद

Varanasi : पांडेयपुर के सिंधी कालोनी में नवरात्र के प्रथम दिन शनिवार को सिंधी समाज के इष्टदेव झूलेलाल साईं जी की जयंती मनाई गई। झूलेलाल सिंधी हिंदुओं के अराध्य देव माने जाते हैं। जिन्हें इष्टदेव और वरुण का अवतार भी कहा जाता है।

करोना कॉल के कारण दो साल बाद यह उत्सव धूमधाम से मनाया गया। सिंधी समाज का एक भजन जिसे सभी वर्ग गाते और पसंद करते हैं। यह काफी प्रचलित भी है।

लाल मुझी पथ रखजाये झूले लालण दमा दम मस्त कलंदर पर लोगों ने काफी रुचि दिखाई। शनिवार को भंडारे के बाद पांडेयपुर स्थित सिंधी कॉलोनी से भव्य झांकी निकाली गई। लोग नाचते गाते हुए श्रद्धा पूर्वक चल रहे थे।

पांडेपुर सिंधी कॉलोनी से अलग-अलग झांकियों के साथ झूलेलालजी की मूर्ति विसर्जन के लिए लिए रवाना हुई। प्रसाद वितरण करते हुए जुलुस लोग आगे बढ़े। इस अवसर पर मुखीया भावनदास, रवि घावरी, लाल सिंह, सुरेश मखीजा, विक्की मध्यानी, अनिल लोकवानी, संजय मध्यानी, लक्की घावरी, राजू लोकवानी, धीरज राजवानी, सतीश मखीजा, बंटी लालवानी, सोनू साधवानी, अजय लखमानी, मनीष सुहाला, अजय लोकवानी सहित कई महिलाएं, पुरुष और बच्चे मौजूद थे।

You cannot copy content of this page