Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

झुन्ना और रवि पटेल ने रची थी लूट की साजिश : DCM चालक और खलासी को गोली मारने वाले शूटर सहित तीन पकड़े गए, वारदात में शामिल रेस्टोरेंट संचालक और इतने आरोपियों की पुलिस को तलाश 

Varanasi : लालपुर पाण्डेयपुर थाना अन्तर्गत बीते 14 जून की रात पान मसाला कंपनी के डीसीएम चालक और खलासी को गोली मारकर लूट का प्रयास करने के मामले में पुलिस ने शूटर सहित तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस कमिश्नरेट वाराणसी के मुताबिक, इस घटना की साजिश जेल से रची गई थी। चित्रकूट जेल में बंद शातिर अपराधी श्रीप्रकाश मिश्रा उर्फ झुन्ना पंडित और गाजीपुर जेल में बंद रवि पटेल ने स्थानीय बदमाशों की मदद से लूट के वारदात को प्लान किया था।

गुरुवार को मुखबिर की सूचना पर लालपुर-पाण्डेपुर पुलिस ने घटना में फरार चल रहे मुख्य शूटर मधुबनी (बिहार) निवासी अनुज झा, बाइक चलाने वाले यश सिंह और वारदात के दौरान रेकी में सहयोग करने वाले प्रमोद गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त पिस्टल और बाइक भी बरामद किया है। पुलिस की पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि घटना की प्लानिंग झुन्ना पंडित और रवि पटेल के इशारे पर पाण्डेयपुर इलाके में स्थित दीपांकर पटेल के रेस्टोरेंट में बनी थी। असलहा मुहैया कराने की जिम्मेदारी रोहित यादव की थी। इसमें पाण्डेयपुर रोड पर पंचर बनाने वाला अभिषेक पटेल उर्फ बच्चा भी शामिल था। पुलिस अब इस मामले में दीपांकर, रोहित और बच्चा की तलाश कर रही है। 

अंधाधुंध फायरिंग करते दिखे थे बदमाश

लालपुर-पाण्डेयपुर थाना क्षेत्र के छोटा लालपुर इलाके में डीसीएम चालक और खलासी के ऊपर बदमाशों ने लूट की नियत से अंधाधुन फायरिंग की थी। मामले की जांच में लगी पुलिस टीम ने घटना स्थल के आसपास लगे सीसी टीवी कैमरों की फुटेज चेक किया तो उसमें बाइक सवार बदमाश ताबड़तोड़ गोलियां चलाते नजर आए। एक गुटखा फैक्ट्री में सारनाथ के नवापुर सराय निवासी लालजी पाल (45) डीसीएम चालक और चौबेपुर के रुस्तमपुर निवासी मनीष यादव (38) खलासी का काम करते थें। बीते 14 जून की रात दोनों आजमगढ़ से माल की डिलिवरी के बाद छोटा लालपुर स्थित एक पेट्रोल पंप पर डीसीएम खड़ी कर बाइक से घर जा रहे थे। इस दौरान पीछे से ओवरटेक कर आए बाइक सवार बदमाशों ने लालजी और मनीष के ऊपर अंधाधुन फायर झोंक कर दोनों को घायल कर दिया और मौके से भाग निकले। दोनों को पुलिस ने बीएचयू स्थित ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया था। जहां उपचार के दौरान बीते शुक्रवार को मनीष की मौत हो गई। वहीं डीसीएम चालक लालजी पाल की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है। 

You cannot copy content of this page