Breaking Crime Varanasi 

कैवल्यधाम शूटआउट : पुलिस रही बेखबर, तीन घंटे तक असलहा लेकर टहलते रहे हमलावर, CO ने जमकर लताड़ा

Varanasi : कैवल्यधाम कॉलोनी (दुर्गाकुंड) में बुधवार को दोपहर बाद बाइक सवार बदमाशों ने विशाल कुमार (32) पर तीन राउंड फायर झोंका था। पहुंचे खोजवा चौकी इंचार्ज रवि कुमार यादव ने जमीन पर जख्मी पड़े विशाल को बीएचयू ट्रामा सेंटर भिजवाया। शूटआउट की जानकारी पर वारदात स्थल पर एसएसपी अमित पाठक पहुंचे। बदमाशों ने विशाल को लक्ष्य कर तीन राउंड फायरिंग की, लेकिन दो गोलियां उनके पेट में लगकर निकल गईं। पुलिस ने मौके से दो खोखा बरामद किया है।

मिर्जापुर जमालपुर के गौरी के रहने वाले सुशील सिंह बीते 20 साल से कैवल्यधाम में मकान बनाकर रहते हैं। उनके घर पर पिछले 17 साल से रामनगर राल्हूपुर भीठी के रहने वाले विशाल सुशील के घर पर रहकर केयरटेकर का काम करते हैं। तीन मंजिला घर में दो तल पर सुशील छात्रावास चलाते हैं। छात्रावास से लेकर घर का पूरा कामकाज विशाल देखते हैं। पुलिस का कहना है कि वारदात के पीछे विशाल ने किसी से कोई रंजिश नहीं बताई है। विशाल बुधवार को काम के सिलसिले में घर से 12 बजे गोदौलिया गए। वहां से तीन बजे जैसे घर पहुंचकर बाइक खड़ी की, वहां पहले से घात लगाए बाइक सवार दो बदमाशों ने गोलियां चलानी शुरु कर दीं। तीन राउंड विशाल पर फायर करने के बाद हमलावर फरार हो गए। गोली की आवाज सुन कर तीसरे तल पर रहने वाले सुशील के परिजनों ने पुलिस को बताया। ट्रामा सेंटर पहुंचे एसएसपी ने बताया कि गोली से घायल विशाल खतरे से बाहर हैं। हमलावरों की पहचान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर करीब-करीब हो गई है।

मौत की नींद सुलाने की थी तैयारी

कैवल्यधाम में विशाल को गोली मारने के पहले बदमाशों ने बड़ी बारीकी से इलाके का रेकी थी। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में पुलिस को जांच में दिखा कि बदमाश घटना को अंजाम देने से पहले करीब तीन बार चक्कर काटते रहे। विशाल को मारने के लिए उसके लौटकर आने तक कॉलोनी में ही घूम फिरकर बने रहे। वहां मौजूद कुछ लोगों ने पुलिस को बताया है कि गोली बाइक पर पीछे बैठे युवक ने चलाया था। उसके गोली चलाने का अंदाज किसी पेशेवर शूटर से कम नहीं था।

सीने की जगह पेट में लगी गोलियां

विशाल को गोली मारने के दौरान बदमाशों का निशान थोड़ा चूक गया। सीसीटीवी में कैद घटना को देखकर ऐसा लग रहा था कि गोली चलाने वाले युवक ने अपना निशाना विशाल के सीने पर साध कर चलाया, लेकिन गोलियां सीने की जगह पेट में लग गईं। ट्रामा सेंटर में मौजूद पुलिसकर्मी दबी जुबान से बातें करते हुए इस बात की चर्चा कर रहे थे।

गोली चलते कॉलोनी में सन्नाटा

कैवल्यधाम कॉलोनी में गोली चलते ही सन्नाटा फैल गया। गोलियों की आवाज सुनकर लोग अपने घरों का दरवाजा बंद कर लिये। दुर्गाकुंड पुलिस चौकी से महज कुछ दूरी पर दिनदहाड़े वारदात होने से पुलिस की लचर कार्यशैली को लेकर चर्चा होती रही। बदमाश तीन घंटे से अधिक समय तक इलाके में हथियार लेकर घूमते रहें, लेकिन पुलिस बेखबर बनी रही। बीट के सिपाही बेखबर रहे। सीओ ने जमकर फटकार लगाई। गौरतलब है, सप्ताह भर पहले बदमाश दिनदहाड़े हथियार की नोंक पर महिला के गले से चेन छीनकर भाग निकले थे।

इसे भी पढ़ें

Big News : सप्ताह भर के भीतर Varanasi में तीसरी बार तड़तड़ाई गोलियां, इस बार हॉस्टल मैनेजर बना निशाना https://aajexpress.com/big-news-for-the-third-time-in-varanasi-within-a-week-early-morning-bullets-this-time-became-hostel-manager/

error: Content is protected !!