Varanasi उत्तर प्रदेश 

नन्हीं आर्या को उम्र से ज्यादा तजुर्बा, बात कर हो जाएंगे प्रभावित, इस वजह से लोग बोलते हैं Google Girl

Krishna Kumar

Varanasi : काशी की पवित्र धरा पर अनेकों हस्तियां पैदा हुईं, जिनके चर्चे हम सभी को इतिहास के पन्नो में मिल जाते हैं लेकिन जिस बालिका के बारे में आज हम बता रहे हैं उसके बारे में सुनकर आप भी चौक उठेंगे। बालिका के चर्चे सुनकर सभी लोग उनसे मिलना चाहते हैं। हम बात कर रहे हैं छह वर्षीया बालिका की।

उन्हें बनारस के 84 घाटों और गीता सार सहित अनेक पुरातन दोहे व धर्मग्रंथों सहित कई श्लोक कंठस्थ हैं, साथ ही देश के सभी राज्यों की राजधानी के अलावा विदेशों की भी राजधानी के नाम भी जुबान पर रटे हुए हैं। जी हां, जिस बच्ची के बारे में हम बता रहे हैं वह वाराणसी के मंडुआडीह स्थित सेंट जॉन्स कॉलोनी की आर्याप्रकाश श्रीवास्तव हैं। आर्या के घर पर उनके पिता विवेक श्रीवास्तव व्यापारी हैं। मां लक्ष्मी श्रीवास्तव गृहणी हैं। मां-बाप को आर्या सहित दो बेटियां हैं। बड़ी पुत्री अदिति व दूसरे नंबर की बिटिया आर्या सेन्ट जॉन्स मड़ौली में कक्षा एक की छात्रा हैं।

बातचीत में आर्या ने बताया कि उन्हें हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत भाषाओं के साथ ही साथ कबीरदासजी के सभी दोहे याद हैं। रामायण सहित गीता सार, शिव तांडव स्रोत, महिषासुर मर्दिनी स्रोत, अन्नापूर्णा स्रोत सहित कई धर्म ग्रन्थ कंठस्थ हैं। रामजन्मभूमि से सम्बंधित सभी बातें कंठस्थ हैं।

उन्हें देशभक्तों द्वारा देश की आजादी के लिए किए गए योगदान भी याद हैं। देश के अबतक के राष्ट्रपति के नाम मालूम हैं। आर्या को गंगा की उतपत्ति तथा गंगा की लंबाई भी कंठस्थ है।

पूछने पर आर्या की मां लक्ष्मी श्रीवास्तव ने बताया की यह सभी ज्ञान उन्हें इंटरनेट व बड़ी बहन अदिति के किताबों के अलावा टीवी पर आने वाले ज्ञानवर्धक कार्यक्रमों से मिला है। कहा, जब हम लोगों ने अपनी बेटी के रुझान को देखा तो उनके द्वारा मंगाए जाने वाले धर्मग्रंथों तथा अन्य किताबों को भी लाकर घर मे रखते गए। आर्या के घर के आसपास रहने वाले व स्कूल की टीचर उसे प्यार से गूगल गर्ल कह कर भी पुकारती हैं। आर्या से पूछने पर की वह क्या बनना चाहती हैं तो उनका जवाब था कि वह बड़ी होकर IAS अफसर बनकर देश की सेवा करना चाहती हैं।

You cannot copy content of this page