Lockdown 03 : Varanasi में 10 मई से रोजमर्रा की चीजें नए वक्त पर मिलेंगी, DM ने लागू की नई व्यवस्था, नए आदेश के तहत…

Varanasi : रोजमर्रा के सामानों की खरीद-फरोख्त के वक्त नियमों की अनदेखी न करने की बार-बार गुजारिश का असर न होता देख जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा समान मिलने की समय सारणी में तब्दीली की है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी में गत चार दिन से लोगों के द्वारा सोशल डिस्टनसिंग का पूरी तरह पालन न करना, बिना जरूरी काम के लॉकडाउन का उल्लंघन कर घर से निकलना, व्यापारियों द्वारा बढ़ती हुई गर्मी के कारण समय परिवर्तन के सुझावों के आधार पर 10 मई से दुकानों और व्यापारिक और वाणिज्यिक गतिविधियों को चालू करने की नई व्यवस्था लागू होगी।

जारी की गई नई व्यवस्था के तहत, नगर निगम सीमा के तहत केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकान (जिसमें दोनों तरह की श्रेणी-मार्किट तथा एकल शामिल हैं) इनमें दवा, सामान्य घरेलू राशन, अनाज, गल्ला, दूध, मिल्क प्रोडक्ट, सब्जी, रसोई गैस, CNG, फल,अंडा, जनरल स्टोर, पशु चारा, पशु चिकित्सा, कृषि संबंधी सामान जैसे-बीज, रसायन, आटा चक्की, आटा मिल, बेकरी में बनने वाले सभी सामान, सूखी खाद्य सामग्री शामिल हैं, के लिए प्रतिदिन सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक खुलेंगी। बताया, नगर निगम सीमा में (जिसमें दोनों प्रकार की श्रेणी-मार्किट तथा एकल शामिल हैं) मोबाइल फोन बेचने और मरम्मत करने, बिजली के उपकरण बेचने और मरम्मत करने, हार्डवेयर सेनेटरी आइटम और प्लंबिंग के उपकरण बेचने और मरम्मत करने, बिल्डिंग मटेरियल, गाड़ी और वाहन मरम्मत, कंप्यूटर हार्डवेयर और मरम्मत करने, 5 कर्मचारियों तक की पेपर प्रिटिंग दुकानें, स्कूल की किताबें, स्टेशनरी की दुकानें सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक केवल गुरुवार और शुक्रवार को ही खुलेंगी।

उपरोक्त श्रेणियों के अलावा नगर में कोई दुकान नहीं खुलेंगी। ग्रामीण क्षेत्रों के मार्किट, मार्किट प्लेस, मार्किट काम्प्लेक्स, कटरा, रोड साइड कतारबद्ध दुकानों के मार्किट में केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानें तथा एकल दुकानो में सभी प्रकार की दुकानें सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुल सकेंगी। कहा, ट्रांसपोर्ट, लोजिस्टिक्स, कूरियर, वेयर हाउस, कोल्ड स्टोर, फ़ूड प्रोसेसिंग इकाईयां, मोबाइल कंपनियां प्रातः 7 से दोपहर 2 बजे तक खुले रह सकते हैं। उपरोक्त वर्णित सभी प्रकार की दुकानों व प्रतिष्ठानों की सप्लाई चेन, स्टोरेज, वेयरहाउस, ट्रांसपोर्ट आफिस भी प्रातः 7 बजे से 2 बजे तक खुले रह सकते हैं। सभी प्रकार की दुकानों, मंडियों और प्रतिष्ठानों से जुड़े भरे हुए और खाली वाहन, कच्चे माल या वितरण के वाहनों का आवागमन भी अनुमन्य होगा।