Lockdown 2.0 : 20 अप्रैल से चिन्हित कामों को सशर्त चालू कराने की दी जायेगी अनुमति -जिलाधिकारी

#Varanasi : जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन होने से आर्थिक व सामाजिक गतिविधियों पर लगे विराम को धीरे-धीरे पटरी पर लाने के लिए शासन द्वारा जारी आदेशों को लागू कराने की कार्रवाई शुरू की जा रही है। इसके लिए 20 अप्रैल से चिन्हित कार्यों को सशर्त चालू कराने की अनुमति दी जायेगी। मजूदर वर्ग के हर तरह के लोगों को कुछ न कुछ रोजगार मिलता रहे तथा लॉकडाउन के कारण उन्हें इधर-उधर भटकना न पड़े, इसके लिए संबंधित विभागों को नोडल बनाया गया है। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा स्वरोजगार करने वाले इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर, मोटर मैकेनिक तथा कारपेंटर को पास जारी करने का निर्देश श्रम विभाग को दिया।

हेल्पलाइन नम्बर जारी कर बनाया जाएगा पास

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शनिवार को कैंप कार्यालय स्थित सभागार में बैठक के दरमियान बताया कि श्रम विभाग द्वारा एक हेल्पलाइन नम्बर जारी कर पास की सम्पूर्ण करवाई सुनिश्चित की जायेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योगों से सम्बन्धित कर्मियों के लिए पास जारी करने के लिए उपायुक्त उद्योग को निर्देशित किया। चालू किये जाने वाली औद्योगिक इकाईयों की सूची तैयार करने के साथ-साथ अन्य डाटा अपडेट रखने का भी निर्देश दिया तथा समस्त कार्य स्थल पर सोशल डिस्टेसिंग, मॉस्क लगाना आवश्यक किया गया है। विद्युत मिस्त्रियों को पास जारी करने के बाद क्षेत्रवार कुछ विद्युत मैकेनिकों को जाने के लिए अनुमति दी जायेगी। ताकि विद्युत उपकरणों की मरम्मत आदि से संबंधित समस्या का निराकरण हो सके। उन्होंने बताया कि नगर निगम क्षेत्र में किसी भी निर्माण कार्य की अनुमति नहीं होगी। यदि निर्माण संबंधी मजदूर कार्य स्थल पर ही निवास करते हों तभी निर्माण कार्य कराये जा सकेंगे लेकिन वहां से मजदूरों को परिसर से बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। जिलाधिकारी ने ग्रामीण क्षेत्रों मनरेगा के तहत कार्य कराने पर विशेष जोर देने का निर्देश देते हुए कहा कि मनरेगा अंतर्गत समस्त ग्राम पंचायतों में सेल्फ आफ प्रोजेक्ट के अनुसार स्टीमेट तैयार करते हुए कार्य की आईडी जनरेट करा ली जाय तथा कार्य शुरू करने की सूचना प्रत्येक श्रमिक तक पहुंचायी जाय। ताकि उनको रोजगार मिल सके।

आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य

उन्होंने उपायुक्त श्रम रोजगार को निर्देशित किया कि मनरेगा अंतर्गत सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए तथा मॉस्क के साथ प्रत्येक ग्राम पंचायत में कार्य शुरू करायें। आंगनबाडी कार्यकत्रियों द्वारा किट डोर टू डोर बांटा जायेगा तथा स्क्रीनिंग के लिए लगायी गयी स्वास्थ्य टीमों के साथ आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी घर-घर जाकर जांच में सहयोग करना होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में सभी जन सेवा केन्द्र चालू करने का भी निर्देश दिया गया। मॉस्क व आरोग्य सेतु ऐप हर किसी को मोबाइल में डाउनलोड करना अनिवार्य है। बिना आरोग्य सेतु एप के उसका पास मान्य नहीं होगा। प्रदेश सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों में 20 अप्रैल से सभी कार्यालय खोले जाने के निर्देश दिये हैं। कार्यालय में वर्ग क एवं ख के अधिकारियों को आना होगा तथा ग व घ श्रेणी के 33 प्रतिशत कर्मचारियों को आवश्यकतानुसार कार्यालय बुलाया जा सकता है।