Breaking Exclusive Varanasi ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म पूर्वांचल 

काशी विश्वनाथ धाम में लॉकर की सुविधा शुरू : अब सामान के साथ श्रद्धालुओं को नहीं पड़ेगा भटकना

Varanasi : काशी विश्वनाथ धाम में प्रवेश पाने के लिए श्रद्धालुओं को अब सामान और मोबाइल रखने के लिए भटकना नहीं होगा।

दर्शनार्थी अपने सामान के साथ धाम परिसर में प्रवेश करेंगे और वहां बने यात्री सुविधा केंद्र में लॉकर की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे। जल्द ही धाम में मिलने वाली सुविधाओं को प्रचार प्रसार किया जाएगा। इससे बाहर कुछ दुकानदारों की मनमानी पर रोक लगेगी।

दरअसल, मंदिर पहुंचने वाले भक्तों को लॉकर सुविधा के नाम पर बाहरी दुकानदार मनमानी कीमत पर प्रसाद बेच रहे हैं। ऐसे में मंदिर के सभी द्वार से दर्शनार्थियों को सामान व मोबाइल के साथ ही प्रवेश देने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

धाम परिसर में मोबाइल के साथ प्रवेश पर सहमति बनने के बाद भी श्रद्धालुओं को जांच के नाम पर रोका जा रहा था। गुरुवार से चारों द्वार से यात्रियों को सामान व मोबाइल के साथ प्रवेश शुरू करा दिया गया है।

धाम परिसर की सुरक्षा को लेकर सीआईएसएफ की ओर से नए सिरे से प्लान बनाया जा रहा है। ड्राफ्ट प्लान में सीआईएसएफ ने मोबाइल के साथ प्रवेश की सहमति भी दी है।

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि धाम में बने यात्री सुविधा केंद्र को पूरी तरह से संचालित करा दिया गया है। श्रद्धालु अब अपने सामान व मोबाइल के साथ धाम के किसी गेट से प्रवेश कर सकते हैं और यात्री सुविधा केंद्र में बने लॉकर का लाभ उठा सकते हैं।

जांच के नाम पर न हो दुर्व्यवहार

श्रीकाशी विश्वनाथ धाम में दर्शनार्थियों की सुरक्षा और सुविधाओं पर मंथन किया गया। अपर पुलिस आयुक्त अपराध व मुख्यालय संतोष कुमार सिंह ने मंदिर की सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों संग मंदिर परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान विभिन्न बिंदुओं पर दिशा निर्देश भी दिये। अपर पुलिस आयुक्त ने पुलिसकर्मियों से कहा कि दर्शनार्थियों को यात्री सुविधा केंद्र के बारे में जागरूक करें। वहीं, दर्शनार्थियों को अपना मोबाइल निशुल्क यात्री सुविधा केंद्र में जमा कराने के लिए प्रेरित करें। पाली प्रभारी सहित अन्य को निर्देशित किया कि जांच के नाम पर किसी भी दर्शनार्थी के संग दुर्व्यवहार न हो। इसके पूर्व अपर पुलिस आयुक्त ने मंदिर परिसर के सभी द्वार, ड्यूटी स्थल, यात्री सुविधा केंद्र आदि का निरीक्षण किया।

You cannot copy content of this page