Breaking Varanasi ऑन द स्पॉट 

बनारस में भी लंपी वायरस का दस्तक : सेवापुरी में एक गाय ने तोड़ा दम, अबतक 167 पशुओं में मिले लंपी जैसे लक्षण, 30 हजार पशुओं तक पहुंची वैक्सीन

Varanasi में भी लंपी वायरस ने दस्तक दे दी। बनारस में पहली बार लंपी वायरस से पीड़ित एक गाय की मौत हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार, यह गाय सेवापुरी के सिखडी गांव के निवासी केशनाथ यादव की थी। हालाकिं आराजी लाइन विकासखंड क्षेत्र के रामपुर गांव में एक गाय की रिकवरी भी हुई है।

अभी तक वाराणसी से चोलापुर में 45 और पिंडरा में 121 पशु लंपी लक्षण वाले मिले हैं। वहीं कुछ आवारा पशुओं में भी लंपी के लक्षण देखे जा रहे हैं, मगर इनकी कोई आधिकारिक गिनती नहीं है। इस तरह मवेशियों के बीमार होने से प्रशासन अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

गांव के लोग और पशुपालक चिंतित और परेशान हो उठे हैं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके सिंह के मुताबिक, वाराणसी में अभी तक 30 हजार के आसपास पशुओं को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

वहीं, कुल जिले को 50 हजार वैक्सीन की डोज मिली है। वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। वाराणसी में 24 सितंबर से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। चोलापुर पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. विजय त्रिपाठी ने कहा कि यहां पर 45 पशुओं का इलाज कराया जा रहा है। यहां के 58 ग्राम सभा का सर्वे कराया गया है।

अभी 31 गांवों की सर्वे होना है। इस पूरे ब्लॉक में पशुओं का वैक्सीनेशन चल रहा है। अभी तक यहां पर 14832 पशुओं के वैक्सीनेट किया गया है। जबकि कुल टारगेट 25000 पशुओं को वैक्सीन लगाने का है। पिंडरा में लंपी से बचाव के लिए 14200 वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। अभी करीब 15 हजार पशुओं को और वैक्सीनेट किया जाना है।

You cannot copy content of this page