Health Varanasi 

मिशन इंद्रधनुष : अबतक 12240 बच्चों और 2815 गर्भवती को लगा टीका, CMO ने की अपील- अभियान का लाभ उठाएं, टीकाकरण अवश्य कराएं

Varanasi : नियमित टीकाकरण से छूटे दो वर्ष तक के बच्चों व गर्भवती के टीकाकरण के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 नौ मार्च से शुरू किया गया था। इस अभियान के तहत जनपद में अबतक छुटे हुए 12,240 बच्चों व 2,815 गर्भवती को प्रतिरक्षित जा चुका है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. वीएस राय ने बताया कि ‘मिशन इंद्रधनुष’ अभियान का पहला चरण नौ मार्च से शुरू हो चुका है। इसके तहत जिले में छूटे हुये दो वर्ष तक के 15,734 बच्चे और 3,826 गर्भवती को प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस अभियान में आईसीडीएस विभाग, जिला पंचायती राज विभाग, एनडीआरए व अन्य विभागों तथा संस्थाओं से भी सहयोग लिया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि जनपद के सभी प्राथमिक-सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर अबतक कुल 1,269 (61.3%) टीकाकरण सत्र आयोजित किया जा चुके हैं। इन सत्रों पर अबतक 12,240 बच्चों (77.8%) व 2,815 गर्भवती (73.5%) का टीकाकरण किया जा चुका है। अभियान का पहला चरण 16 मार्च तक चलेगा। इसके बाद 4 अप्रैल से दूसरा चरण शुरू होगा।

डॉ. राय ने बताया कि सभी सत्र स्थल पर सुबह नौ बजे से लेकर शाम चार बजे टीकाकरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उदासीन परिवारों या जो परिवार अपने बच्चों को टीका लगाने से मना कर रहे हैं उनको स्वास्थ्य विभाग व यूनीसेफ के जिला प्रतिनिधियों द्वारा मोबिलाईज़ और जागरूक किया जा रहा है।

इसके साथ ही आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया गया है कि छूटे हुये बच्चों, गर्भवती व उनके परिवार के सदस्यों को जागरूक करते हुये उनका टीकाकरण सुनिश्चित करायें।

सीएमओ ने की अपील

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संदीप चौधरी ने जनपदवासियों से अपील की है कि किसी भी उम्र के बच्चे व गर्भवती टीकाकरण से छूटे हैं तो वह इस अभियान का लाभ उठाएं और अपना टीकाकरण अवश्य कराएं।

अभियान में लग रहे हैं 11 तरह के टीके

इस अभियान में 11 वैक्सीन-प्रिवेंटेबल डिजीज का टीकाकरण शामिल हैं जिनमें डिप्थीरिया, काली खांसी, टिटेनस, पोलियो, क्षय (टीबी), हेपेटाइटिस-बी, मैनिंजाइटिस, निमोनिया हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप-बी संक्रमण, रोटावायरस वैक्सीन, न्यूमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन (पीएसवी) और खसरा-रूबेला (एमआर) शामिल हैं।

You cannot copy content of this page