Varanasi धर्म-कर्म 

#Navratri2020 day 8 : 108 कमल और दीपों से जगमगा उठा भवतारिणी का दरबार, महाअष्टमी पर हवन पूजन के साथ कन्या पूजन

Varanasi : नवरात्रि की अष्टमी तिथि पर शनिवार को देवी मंदिरों में महाअष्टमी का हवन-पूजन हुआ। अष्टमी पर ही कन्या पूजन भी हुआ। मंदिरों व पूजा पंडालों के साथ ही घरों में भी कन्या का देवी रूप में पूजन हुआ और उनका आशीष श्रद्घालुओं ने लिया। कन्याओं का पैर पखारकर उन्हें आमंत्रण दिया गया। उन्हें आसन में विराजित कर उनके पैरों को महावर से सजाया गया और चुनरी से सजाया गया। इसके बाद उन्हें पुड़ी, हलवा, खीर, छोले व आलू की सब्जी समेत विभिन्न प्रकार के भोग लगाए गए और कन्याओं को विभिन्न प्रकार के उपहार देकर उन्हें प्रसन्न किया गया।

इसके साथ ही बंगाली समाज के लोगों ने मां की संधि पूजा की। इसमें रेलवे परिक्षेत्र स्थित काली मंदिर, सरकंडा काली मंदिर, विनोबा नगर समेत अन्य स्थानों पर पूजन हुआ। समाज के लोगों ने मां की कमल के 108 फूलों और 108 दीपों से संधि पूजा की। मंत्रोच्चार के साथ मां को पुष्पांजलि अर्पित की। दीपों से मां के दरबार को सजाकर आस्था पेश की। इसके साथ ही खीर व मिश्री का भोग विशेष रूप से अर्पित किया गया। इस दौरान दुर्गा पंडालों में ढाक एवं शंख ध्वनि से वातावरण गुंजायमान हो उठा। बंगीय समाज की महिलाओं ने सजल नेत्रों से इस महामारी से देश को बचाने की कामना की। अगले वर्ष पूर्ण इच्छा के साथ फिर से मिलने की वादा कर प्रसाद ग्रहण किया।

error: Content is protected !!