Health Varanasi 

अबतक 22 निजी चिकित्सकों को नोटिस : बोले CMO- निजी चिकित्सक शत-प्रतिशत करें क्षय रोगियों को नोटिफाई, नहीं तो होगी कार्रवाई

Varanasi : राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत सभी क्षय रोगियों (निजी तथा सरकारी अस्पतालों) का निक्षय पोर्टल पर नोटिफिकेशन करना अनिवार्य है। निक्षय पोर्टल पर निजी चिकित्सक स्वयं क्षय रोगियों का पंजीकरण कर उन्हें शत-प्रतिशत नोटिफिकेशन करें।

ऐसा न करने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इस साल अब तक जनपद के 22 निजी चिकित्सकों को नोटिफिकेशन न करने पर नोटिस दिया जा चुका है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संदीप चौधरी ने दी।

सीएमओ ने कहा कि जनपद में निजी चिकित्सकों, चिकित्सालयों, मेडिकल स्टोर या लैब को क्षय रोगियों के पंजीकरण की जिम्मेदारी स्वयं ही निभानी होगी। अन्यथा की स्थिति में कार्रवाई की जाएगी।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. पीयूष राय ने बताया कि प्राइवेट सेक्टर में नोटिफिकेशन बढ़ाने के लिए निजी चिकित्सकों को लगातार सूचित किया जा रहा है। लेकिन इसके बावजूद निजी चिकित्सक नोटिफिकेशन में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। निजी चिकित्सकों को प्रति क्षय रोगी के नोटिफिकेशन करने के लिए 500 रुपये और उपचार पूरा होने पर आउटकम देने के लिए भी 500 रुपये दिये जाते हैं।

उन्होंने कहा कि जिन निजी चिकित्सालयों-चिकित्सकों के अंतर्गत क्षय रोगियों का उपचार चल रहा है, उस चिकित्सालय-चिकित्सक से नामित व्यक्ति ही एक जनवरी 2022 से निक्षय पोर्टल पर क्षय रोगियों के पंजीकरण का कार्य करेंगे। इसके साथ ही उनके नमूनों की जांच के लिए स्पुटम (बलगम) कलेक्शन और अस्पताल पर ही सैम्पल पैकेजिंग का भी काम करेंगे।

अपील-: जिला क्षय रोग अधिकारी ने सभी निजी चिकित्सकों व संस्थान से राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम में पूर्ण सहयोग प्रदान करने की अपील की है। उनका कहना है कि शासन के निर्देश के क्रम में नये टीबी मरीजों का नोटिफिकेशन कराना हमारी जिम्मेदारी है। अतः सभी लोग शत-प्रतिशत क्षय रोगियों का नोटिफिकेशन करना सुनिश्चित करें। इस विषय पर जिलाधिकारी ने भी गम्भीर चिन्ता व्यक्त की है।

इस नंबर पर किया जा सकता है संपर्क-: निक्षय पोर्टल से संबन्धित किसी भी प्रकार की आवश्यकता होने पर डीपीपीएमसी नमन गुप्ता 8840285287 से प्रातः 10 बजे से सायं पांच बजे तक कार्यदिवस पर सम्पर्क किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस साल अभी तक 22 निजी चिकित्सकों व चिकित्सालयों को नोटिस जारी किया जा चुका है। वर्तमान में जनपद में 13411 टीबी मरीज नोटिफ़ाई किए जा चुके हैं जिसमें पब्लिक सेक्टर के 9045 और प्राइवेट सेक्टर के 4366 मरीज शामिल हैं।

You cannot copy content of this page