Varanasi 

वाराणसी में सिर्फ 430 रजिस्ट्रेशन : बिना रजिस्ट्रेशन कुत्ता पालने पर लगेगा जुर्माना, कायम होगा मुकदमा

Varanasi : गाजियाबाद में पिटबुल डाग द्वारा काट लिए जाने समेत प्रदेश में कुत्तों के काटने की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए नगर निगम प्रशासन ने हर कुत्ते का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है। इस नियम के उल्लंघन पर जुर्माना तो लगेगा ही एफआईआर भी होगी।

पूर्व से इसके लिए जुर्माने के प्रविधान को सख्ती से लागू करने का नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने निर्देश दिया है। अपर नगर आयुक्त सुमित कुमार व पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी को इसके लिए अभियान चलाने के लिए पत्र जारी किया है।

नगर निगम के वार्डों में अबतक मात्र 430 ही पालतू कुत्तों का ही रजिस्ट्रेशन हुआ है, जबकि शहरी क्षेत्र में हजारों घरों में पालतू कुत्तों के होने का अंदेशा है। ऐसे में नगर आयुक्त ने सभी पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश दिया है।

गत दिनों हुए वीडियो कांफ्रेंसिंग में नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने इस दिशा में तेजी लाने का निर्देश दिया था। नगर विकास मंत्री ने नगर निगम के अफसरों व कर्मियों को भी अपने पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन कराने को कहा था।

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. एनपी सिंह ने बताया कि नगर निगम में किसी भी तरह की शिकायत के लिए सिटी कमांड कंट्रोल सेंटर में कंट्रोल रूम खोला गया है। 0542-2720005, 18001805567 व 1533 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। घोड़ा अस्पताल के पशु चिकित्सा और कल्याण अधिकारी डा. अजय प्रताप सिंह का कहना है नगर निगम की अधिनियम के तहत रजिस्ट्रेशन नहीं कराने वालों पर शिकायत की स्थिति में जुर्माने के साथ एफआईआर कराई जाएगी।

You cannot copy content of this page