Breaking Lucknow Politics Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

#Photos- BJP प्रदेश अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं को 2022 का चुनाव जीतने के लिए दिए टिप्स : बोले स्वतंत्र देव सिंह- SP और BSP का कार्यकर्ता दो पाउच पर काम करता है, हमारे आज के कार्यकर्ता भविष्य के डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय हैं

Varanasi : BJP के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने रविवार को महमूरगंज में आयोजित कार्यकर्ता बैठक में कार्यकर्ताओं को 2022 के चुनाव को लेकर टिप्स दिये। विपक्षियों पर निशाना साधते कहा कि भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता ईमानदार होता है। जबकि, सपा और बसपा का कार्यकर्ता दो पाउच पर काम करता है। कहा कि गैर भाजपाई सरकारों ने वंचित वर्ग के साथ छलावा किया। उनके हितों के लिए बनाई गई योजनाओं का अधिकांश लाभ दलालों ने उठाया। भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता, राष्ट्रवाद के लिए जीता और मरता है। अगर कार्यकर्ताओं का आह्वान किया गया तो वह बॉर्डर के लिए कूच भी कर सकता है।

कहा कि सरकार वंचित वर्ग के लिए विभिन्न योजनाएं चला रही है। पिछली सरकारों में अनुसूचित वर्ग और अन्य वर्गों के लिए चलाई गई योजनाएं धरातल पर नहीं आती थीं। अब कोई बाधा नहीं है। हमें सर्व समाज, मलिन, दलित, यादव और मुस्लिम बस्तियों के बीच जाकर चाय पीना है। केंद्र और प्रदेश की योजनाओं को लेकर उनके साथ चारपाई पर बैठकर उनके साथ चर्चा कर समय बिताना है।

स्वतंत्रदेव ने 2022 के चुनाव को भी लेकर कार्यकर्ताओं को टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि मंडल प्रभारी, मंडल अध्यक्ष और बूथ अध्यक्षों का दायित्व बनता है कि वह एक तपस्वी कार्यकर्ता का निर्माण करें। क्योंकि, आज के कार्यकर्ता भविष्य के डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय हैं। आज के कार्यकर्ता ही कल का भविष्य हैं।

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की बदौलत ही सेना पर पत्थर नहीं चल रहा है। कार्यकर्ताओं की तपस्या के कारण ही बड़े नेताओं का कद है। मैं गरीबों का चेहरा बदलने नहीं, बल्कि सभी को खुशहाल रखने के लिए आया हूं। भारत मां की जय जयकार दुनिया में हो, भारत विश्व गुरु बने, इसीलिए हम सभी कार्यकर्ताओं का दायित्व है कि सन 2022 की चुनाव में एक बार फिर कमल खिले।

कहा, भारतीय जनता पार्टी और जन संघ की नीव डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने रखी था। दरअसल, सरदार पटेल ने राष्ट्रवाद से जुड़ी दो समस्याओं- पहला राम मंदिर का निर्माण और दूसरा धारा 370 की बात पंडित जवाहरलाल नेहरू के समक्ष रखा। वह चाहते तो इन दोनों समस्याओं का हल हो जाता। डॉक्टर मुखर्जी ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। जनसंघ की नीव रखी। उसी समय काश्मीर मार्च किया। दुर्भाग्य से उनकी हत्या कर दी गई।पं. दीनदयाल उपाध्याय जी उस समय के टॉपर विद्यार्थियों में गिने जाते थे। वह राष्ट्र के लिए समर्पित थे।

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मंडल प्रभारी डॉ. निर्मला सिंह पटेल, राजेश त्रिवेदी और एडवोकेट जेपी सिंह, बृजेश चौरसिया, कुसुम पटेल, कुशाग्र श्रीवास्तव, डॉ. गीता शास्त्री, पवन अग्रवाल, सौरभ यादव, एडवोकेट अनुपम बाजपेई और विनायक पांडेय से सक्षम बूथ और संगठन के 6 पर्व और बूथ, पन्ना समिति से जुड़े सवाल किए। कहा कि, सक्षम बूथ वह होता है जहां संगठन के छह कार्यक्रम होते हैं। नियमित बैठकें होती रहती हैं।

कहा कि हल माह की 15 या 25 तारीख को मंडलों की बैठक करनी चाहिए। तीन से चार घंटा तक एक साथ बिताना चाहिए। बूथों के प्रवास का कार्यक्रम भी तय होना चाहिए। महीने के आखिरी रविवार को मन की बात के दिन हल बूथ समिति की बैठक होनी चाहिए।

क्षेत्रीय अध्यक्ष महेश श्रीवास्तव ने स्वागत करते हुए कहा कि 2022 का बिगुल फूंका जा चुका है। बूथों पर कार्यकर्ता कार्य प्रारंभ कर चुके हैं। यहां से कार्य करने का संकल्प लेकर जाएंगे कि जब तक विजयश्री प्राप्त नहीं कर लेंगे तब तक हम कार्यकर्ता आराम नहीं करेंगे।

कार्यक्रम के प्रारंभ में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, महेश श्रीवास्तव, विद्यासागर राय, अशोक चौरसिया ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्वलित किया। महानगर उपाध्यक्ष डॉ. गीता शास्त्री ने वंदे मातरम गीत प्रस्तुत किया।

You cannot copy content of this page