Varanasi उत्तर प्रदेश धर्म-कर्म 

Photos : अस्ताचल सूर्य को व्रती महिलाओं ने दिया अर्घ्य, गूंजते रहे छठी मइया के जयकारे

Varanasi : सूर्यदेव के आराधना का महापर्व सूर्य षष्ठी (छठ) शुक्रवार को श्रद्धा के साथ मनाया गया। व्रती महिलाओं ने अस्ताचल सूर्य को अ‌र्घ्य देकर पुत्रों के लंबी उम्र की कामना की। काशी के घाटों पर अ‌र्ध्य देने के लिए हजारों महिलाओं का हुजूम उमड़ा। अ‌र्घ्य देने के बाद नदी में प्रवाहित किए दीपों का विहंगम दृश्य देखते ही बना। यह व्रत शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के बाद पूरा होगा।

छठ घाटों की छटा शाम के वक्त देखने लायक थी। कोरोना महामारी के चलते काशी घाटों और सूर्य सरोवरों पर भीड़ की संख्या उतनी नहीं दिखी। कुछ जगहों पर घर के छतों पर कृत्रिम कुंड बनाकर व्रती महिलाओं ने वहीं अर्घ्य दिया। महिलाओं ने डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर बेटे की सलामती के लिए मन्नतें मांगी।

शहर और देहात इलाकों में शाम होते ही व्रती महिलाओं का हुजूम गंगा घाटों, नदी, पोखरों की ओर चल दिया। वहां पहले से बनाई गई छठ वेदियों पर व्रती महिलाओं ने बैठकर पूजन किया। कमर भर पानी में भगवान भास्कर के डूबने का इंतजार किया। जैसे ही आसमान में सूर्यदेव डूबने लगे, महिलाओं ने अर्घ्य देना शुरू किया। पूरा वातावरण छठ मइया के जयकारों से गुंजायमान हो गया। छठ मइया के जयकारे गूंजे तो बैंडबाजे पर छठ मइया के गीत गूंज रहे थे।

पारंपरिक विधि-विधान से उल्लास पूर्ण वातावरण में मनाया गया। अस्ताचल सूर्य को अ‌र्घ्य देने के लिए महिलाएं घरों से नंगे पैर घरों से निकल पड़ीं। पूरब की संस्कृति की छटा बिखेरती पारंपरिक वेशभूषा में रंग-बिरंगे पीत वस्त्र धारी कपड़े पहन कर महिलाएं सिर पर पूजा सामग्री लिए घाट तक गईं। वेदी पर पूजन सामग्री रख सूर्य को अ‌र्घ्य दिया। मन्नत पूरी होने पर कोसी भी भरने की तैयारी थी। पुत्र और पति के दीर्घायु के लिए व्रत भी रखा था। ऐसी मान्यता है कि संसार को प्रकाश से ऊर्जावान करने वाले सूर्य लोगों पर भी असीम कृपा करते हैं।

श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे। एसएसपी अमित पाठक ने सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखी। एसएसपी और सीओ दशाश्वमेध अवधेश पांडेय ने फोर्स के साथ दशाश्वमेध और आसपास के सटे घाटों का जायजा लिया। गंगा घाट की तरफ जाने वाले सभी मार्गों पर छोटे-बड़े सभी वाहनों का आवागमन रोक दिया गया था। जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात थे। नदी तट पर सुरक्षा के लिए पुलिस फोर्स के साथ इंडीआएफ तैनात रही।

Photos-

error: Content is protected !!