Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

राजेश फूटे के गैंग D-10 पर पुलिस की नजर : CP ए. सतीश गणेश के निर्देश पर तैयार की जा रही नई फेहरिस्त, ADCP काशी को बनाया गया नोडल अफसर, हाल ही में जेल गया है एनकाउंटर में जख्मी सिक्की

Varanasi : कमिश्नरेट पुलिस डी-10 गैंग पर शिकंजा कसने जा रही है। पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने जेल से बाहर आए गैंग के गुर्गों और ऐसे सदस्य जो पुलिस की निगाह से बचे हुए हैं उन पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। पंजीकृत गिरोह के सदस्यों की कुंडलियां फिर से खंगाले जाएंगे।

डी-10 गैंग के नए सदस्य जो इस गैंग के लिए काम कर रहे हैं उनकी गतिविधियों पर पुलिस को सतर्क दृष्टि रखने के लिए कहा गया है। एडिश्नल डीसीपी काशी को इस टास्क का नोडल अधिकारी बनाया गया है। पुलिस के मुताबिक राजेश यादव फूटे के गैंग डी-10 में 10 सदस्य हैं। सचिन पटेल उर्फ सिक्की को अभी हाल ही में हुई मुठभेड़ के बाद जेल भेजा गया है।

डी-10 गैंग का लीडर नैनी जेल में बंद राजेश यादव फूटे कोतवाली थाना क्षेत्र का रहने वाला है। गिरोह में मनोज कुमार यादव निवासी थाना कैंट, अजय कुमार रावत निवासी लक्सा, अंबर उर्फ सोनू गोस्वामी निवासी कैंट, ऋषि पंडित निवासी कोतवाली, रवि जायसवाल निवासी कोतवाली, विनोद साहनी निवासी आदमपुर, सोनू मुसलमान उर्फ एजाज निवासी आदमपुर, अनिल कुमार सिंह निवासी नौबतपुर पटना, बिहार हालपता कैंट वाराणसी और सिक्की उर्फ सचिन पटेल शामिल हैं।

You cannot copy content of this page