Varanasi उत्तर प्रदेश 

167 साल का हुआ डाक विभाग : ‘आपका दोस्त, इंडिया पोस्ट’ नारे के साथ निकाली गई रैली, बोले पोस्टमास्टर जनरल- लोगों के सुख-दुख में बराबर जुड़ा है डाक विभाग

Varanasi : ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ और भारतीय डाक विभाग के 167वें स्थापना दिवस के क्रम में 1 अक्टूबर को वाराणसी परिक्षेत्र के विभिन्न मंडलों में रैली निकालकर लोगों को डाक विभाग की विभिन्न योजनाओं के संबंध में जागरूक किया गया। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने वाराणसी कैंट प्रधान डाकघर परिसर से हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया, जो कि नदेसर, वरुणा पुल, सर्किट हाउस, कचहरी चौराहा, अंबेडकर चौक तथा मिंट हाउस होते हुए कैंट प्रधान डाकघर में समाप्त हुई। इसी क्रम में वाराणसी प्रधान डाकघर से निकली रैली विशेश्वरगंज से आरम्भ होकर कबीरचौरा, बेनिया बाग, गोदौलिया चौराहा होते हुए दशाश्वमेघ घाट पहुंची। चौक, नीची बाग होते हुए प्रधान डाकघर में समाप्त हुई। इस दौरान डाककर्मी अपने हाथों में विभिन्न डाक सेवाओं की तख्ती लिए हुए उनके बारे में और स्वच्छता के संबंध में नारे लगाते हुए चल रहे थे। ‘आपका दोस्त, इण्डिया पोस्ट’ और ‘डाक सेवा-जन सेवा’ के नारों ने लोगों का ध्यान आकर्षित किया।

इस अवसर पर पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि, देश के हर कोने में, हर दरवाजे पर डाक विभाग की पहुंच है। वह लोगों के सुख-दुख में बराबर रूप से जुड़ा हुआ है। आज डाकघर न केवल पत्र वितरित करता है बल्कि अपने व्यापक नेटवर्क के माध्यम से विभिन्न प्रकार की डिजिटल और हाईटेक जनोपयोगी सेवाएं भी प्रदान करता है। डाक सेवाएं नवीनतम टेक्नोलॉजी अपनाते हुए एक ही छत के नीचे तमाम जनोपयोगी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं। पत्र, पार्सल, ई-मनीऑर्डर, अंतर्राष्ट्रीय धन अंतरण सेवा, बचत बैंक, डाक जीवन बीमा, ग्रामीण डाक जीवन बीमा, फिलेटली, आधार नामांकन और अद्यतन सेवा, पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र, कॉमन सर्विस सेण्टर, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, गंगा जल की बिक्री, विभिन्न प्रसिद्ध मंदिरों के प्रसाद की बिक्री जैसी तमाम सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध हैं। कोरोना महामारी के दौर में डाक विभाग के कर्मी ‘कोरोना वॉरियर्स’ के रूप में लोगों को घर बैठे तमाम सुविधाएं उपलब्ध करा रहे हैं।

रैली में प्रवर डाकघर अधीक्षक वाराणसी पूर्वी मंडल राजन, डाकघर अधीक्षक वाराणसी पश्चिमी मंडल कृष्ण चन्द्र, सहायक निदेशक राम मिलन, लेखा अधिकारी एमपी वर्मा, सीनियर पोस्टमास्टर चंद्रशेखर बरुआ, सहायक अधीक्षक अजय कुमार, आरके चौहान, पंकज कुमार, डाक निरीक्षक श्रीकांत पाल, विश्वम्भर नाथ द्विवेदी, शशिकांत कन्नोजिया, इंद्रजीत पाल, शशि भूषण, नरेश बारा, पोस्टमास्टर कैंट प्रधान डाकघर रमा शंकर वर्मा, जनसम्पर्क निरीक्षक अनिल शर्मा, राजेन्द्र यादव, राहुल कुमार, श्रीप्रकाश गुप्ता, अभिलाषा, अजिता, मंजू, उषा, श्रवण कुमार, मनीष कुमार, उमंग शुक्ला, सर्वेश, रामचंद्र, भूपेंद्र, नरेंद्र, पंकज कुमार सहित तमाम विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

You cannot copy content of this page