Lucknow Politics Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Varanasi में RSS प्रमुख डॉ. मोहन भागवत : काशी प्रांत के प्रचारकों के साथ बैठक की, मनमाने ढंग से प्रचारिका के वितरण पर नाराजगी, बोले- हमारा एक और एक लक्ष्य सेवा है

Varanasi : RSS प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने कहा कि गोकुल धाम में सितंबर माह में बैठक आयोजित की गई थी। विधानसभा चुनावों को देखते हुए कुछ कार्यों को स्थगित कर दिया गया था। अब चुनाव समाप्त हो गए हैं। होली भी बीत गई है। अब सभी वैचारिक, आनुषांगिक और सेवा कार्य प्रारंभ कर दिए जाएं।

संघ प्रमुख अपने काशी प्रवास के तीसरे दिन शुक्रवार को प्रवास स्थल विश्व संवाद केंद्र में काशी प्रांत के प्रचारकों के साथ बैठक कर रहे थे। कहा की वैचारिक परिवार, आनुषांगिक संगठनों का गठन जो रह गया था उनका तत्काल गठन कर लिया जाए। जो निष्कृय हैं उन्हें सक्रिय किया जाए। प्रचारक अपने क्षेत्र और जिलों में प्रवास शुरू करें। संघ का शताब्दी वर्ष समीप आ रहा है।

हर तीन वर्ष में संघ भौगोलिक और कार्य के आयामों में विस्तार को लेकर योजनाएं बनाएं। इसेे सभी मंडलों तक पहुंचाने का लक्ष्य है। यह ध्यान रखने की जरूरत है कि संघ का कार्य क्षेत्र बढ़ाने का मतलब आंकड़ों से नहीं है।

संघ का उद्देश्य समाज की आंतरिक शक्ति को बढ़ाना है ताकि सामाजिक एकता, संगठन, समरसता की भावना रहे। इस दौरान क्षेत्र प्रचारक अनिल, प्रांत प्रचारक रमेश, अखिल भारतीय गौ सेवा प्रमुख अजित प्रसाद महापात्र, क्षेत्र कार्यवाह वीरेंद्र, विभाग संघचालक जेपी लाल आदि मौजूद थे। संघ प्रमुख प्रवास स्थल पर ही शाखा में शामिल हुए।

संघ प्रमुख ने 27 मार्च को BHU के स्वतंत्रता भवन में आयोजित स्वयंसेवकों संग कुटुंब कार्यक्रम में कुछ लोगों द्वारा मनमाने ढंग से प्रचारिका के वितरण पर नाराजगी व्यक्त की। कहा कि ऐसा न किया जाए।

वहां पर केवल उन्हीं 350 कुटुंबों को प्रवेश दिया जाएगा जिनका नाम सूची में है। संघ प्रमुख ने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जो राजनैतिक पैरवी करते रहते हैं। ऐसे लोग अपने को सेवा कार्य में लगाएं। हमारा एक और एक लक्ष्य सेवा है। सेवा की योजनाएं बनाएं और उसे अमल में लाएं।

You cannot copy content of this page