हालात-ए-खाकी : कैसी मुश्किल घड़ी आई है! और रोते हुए यह कहकर फोन काट देती हैं कि अपना ख्याल रखना जी…

Krishna Kumar

Varanasi : देश ही नहीं, विश्व कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है। संक्रमित क्षेत्र में ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों की हिम्मत, जोश और जज्बे को हर कोई सलाम कर रहा है। मड़ौली में घोषित कोरोना हॉटस्पॉट जोन में अनवरत ड्यूटी कर रहे मड़ौली चौकी इंचार्ज अजय दूबे ने बताया कि परिवार को प्रयागराज स्थित गांव पर शिफ्ट करवा दिया हूं।

सात साल की बेटी उन्नति को पता ही नहीं कोरोना क्या होता है। मोबाइल पर बात करते वक्त बस आईलवयू डैडी-आईलवयू डैडी बोलती रहती है। पत्नी पूजा दूबे रोते हुए कहती हैं छुट्टी लेकर आ जाओ। परेशानी खत्म होने के बाद ड्यूटी पर जाना। अजय दूबे ने बताया कि पीड़ित मरीज और डरे-सहमें मड़ौली के लोगों को देखने के बाद अपना दर्द भूल गया हूं। अजय ने बताया, पत्नी पूजा को रोज समझाता हूं कि यदि हमारे जैसे हर पुलिसवाला छुट्टी लेकर अपने घर चला जायेगा तो हमारे देश की तस्वीर अन्य देशों से भी ज्यादा भयावह होगी।

भावुक हो जा रही पत्नी के नहीं समझने पर अजय पत्नी से झल्लाकर बोलते हैं, क्या चाहती हो लोग तुम्हारे पति को गाली दें कि जब देश को सबसे ज्यादा जरूरत थी तब वह पत्नी के कहने पर फर्ज भूलकर घर भाग आया था। यह सुनकर पत्नी शांत हो जाती हैं और रोते हुए यह कहकर फोन काट देती हैं कि अपना ख्याल रखना जी…।