Varanasi ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

चैत्र नवरात्र का सातवां दिन : मां कालरात्रि के दरबार में उमड़ा भक्तों का सैलाब, जानें क्या है माहात्म

नवरात्रि के सप्तमी तिथि को मां दुर्गा के कालरात्रि रूप के दर्शन पूजन का विधान है। काशी के कालिका गली में देवी कालरात्रि का प्राचीन मंदिर स्थापित है। सुबह से ही मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। माता के जयकारों से पूरा मंदिर परिसर गूंज उठा। लोगों ने पूरे विधि-विधान और वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच मां दुर्गा के सातवें स्वरुप मां कालरात्रि की आराधना कर रहे। ऐसी मान्यता है कि काशी का यह अद्भुत व इकलौता मंदिर है जहां भगवान शंकर से रुष्ट होकर माता पार्वती आईं और…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

Maha Ashtami 2023: महाअष्टमी के दिन भूल कर भी नहीं करना चाहिए ये काम, माता हो जाती हैं नाराज

देश में चैत्र नवरात्रि की धूम है। नवरात्रि में धार्मिक मान्यता के मुताबिक मां जगदंबे अपने भक्तों के बीच में रहती हैं और भक्तों के कष्टों का निवारण करती हैं। नवरात्रि में अष्टमी और नवमी का विशेष महत्व भी बताया गया है। अष्टमी पर महागौरी की पूजा आराधना की जाती है और नवमी को मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। नवरात्रि की इन दोनों तिथियों में कन्या पूजन से लेकर हवन तक संपन्न होते हैं। ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में इस तिथियों के लिए कुछ विधान भी बताए गए हैं।…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

जानिए कब है महाअष्‍टमी और महानवमी : कन्‍या पूजन का क्‍या है शुभ मुहूर्त? नोट कर लें व्रत पारण का शुभ समय

इन दिनों मां दुर्गा की विशेष आराधना चैत्र नवरात्रि के दिन चल रहे हैं। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। महानवमी तिथि के दिन हवन और कन्‍या पूजन के बाद व्रत का पारण किया जाता है। वहीं कुछ लोग महाअष्‍टमी के दिन कन्‍या पूजन और पारण करते हैं। अष्‍टमी तिथि पर महागौरी का पूजन किया जाता है और नवमी पर मां सिद्धिदात्री का। आइए ज्‍योतिषाचार्य विमल जैन से जानते हैं अष्‍टमी और नवमी तिथि पर कन्‍यापूजन और व्रत पारण का शुभ…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

Chaitra Navratri 2023 : अगर आपको है पैसों की समस्या तो इस महाअष्टमी करें पान के पत्ते का ये खास उपाय, हमेशा रहेंगे मालामाल

22 मार्च से चैत्र नवरात्रि प्रारंभ हो चुका है और इसका समापन 30 मार्च को हो जाएगा। ऐसे में नवरात्रि के कुछ दिन ही शेष रह गए हैं। अगर आप आर्थिक समस्याओं से परेशान हैं तो महाअष्टमी के दिन कुछ विशेष उपायों को करके आप इन परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।इस बार महाअष्टमी के दिन विशेष संयोग बन रहे हैं और इस दौरान किए गए उपाय जरूर सिद्ध होंगे। इस दिन आप पान के पत्ते से खास उपाय करके आप अपनी हर परेशानी से हमेशा के लिए निजात पाकर…

और पढ़ें।
Breaking Exclusive Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट 

शृंगार गौरी की याचिकाकर्ता महिलाओं ने किया दर्शन-पूजन, साथ में मौजूद रहे अधिवक्ता विष्णु जैन, कही ये बात

Varanasi : चैत्र नवरात्रि के चौथे दिन मां शृंगार गौरी के दर्शन-पूजन विधान है। इसी क्रम में आज ज्ञानवापी और मां शृंगार गौरी केस की वादिनी महिलाएं काशी विश्वनाथ मंदिर के कॉरिडोर में मौजूद शृंगार गौरी के पूजन अर्चन के लिए पहुंचीं। जहां उन्होंने पूजा अर्चना कर शृंगार गौरी मामले में जीत के लिए प्रार्थना की। बता दें कि साल में एकदिन काशी के लोगों को शृंगार गौरी के दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त होता है। ऐसे में शनिवार को यहां सुबह से ही भक्तों की लम्बी लाइन दर्शन के…

और पढ़ें।
Varanasi उत्तर प्रदेश धर्म-कर्म 

चैत्र नवरात्रि : दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी देवी का दर्शन करने उमड़े भक्त, संतान कामना पूरी करती हैं मां

Varanasi : वासंतिक नवरात्रि का आज दूसरा दिन है। आज मां दुर्गा के दूसरे स्वरूप माता ब्रह्मचारिणी की पूजा अर्चना की जाती है। काशी में मां ब्रह्मचारिणी का मंदिर गंगा किनारे दुर्गा घाट के किनारे है। मां ब्रह्मचारिणी के दर्शन-पूजन के लिए भोर से ही श्रद्धालु कतारबद्ध हैं। बता दें कि दुर्गा घाट के किनारे स्थित मां ब्रह्मचारिणी मंदिर में भोर से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी है। मान्यता है कि माता के दर्शन मात्र से ही आस्थावानों को यश-कीर्ति की प्राप्ति होती है। मंदिर के पुजारी ने बताया कि…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

Chaitra Navratri 2023: जानिए, नवरात्रि पर कलश स्थापना के क्या हैं नियम, भूलकर न करें ये गलतियां

22 मार्च चैत्र प्रतिपदा तिथि से 9 दिनों तक चलने वाला मां दुर्गा की उपासना का महापर्व चैत्र नवरात्रि आरंभ होने वाली है। नवरात्रि के नौ दिनों तक मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना होती है। ऐसी मान्यता है कि नवरात्रि के दिनों में मां दुर्गा नौ दिनों तक पृथ्वी पर विचरण करती हैं और अपने भक्तों की सेवा और भक्ति से प्रसन्न होकर उन्हें आशीर्वाद प्रदान करती हैं। नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री माता…

और पढ़ें।

You cannot copy content of this page