बड़ी बोल 

व्यंग : खिड़कीझांक जी बताइये क्या हालात हैं कमोड के

जी हाँ हम आपको ताजा अपडेट के लिए ले चलते हैं सीधे “#बच्चपन्न” साहब के टॉयलेट में। जैसा कि आप देख सकते हैं कि अभी अभी वो फारिग होकर बेड पर जा रहे हैं। हम जानेंगे कि आखिर बच्चपन्न साहब पाजिटिव पाये जाने के बाद किस तरह की यूरिन और पोट्टी डिस्चार्ज कर रहे हैं।

हम सीधे रुख करते हैं नानाबटी हॉस्पिटल जहां रिपोर्टर “खिड़कीझांक” कैमरामैन “टॉयलेटसूंघ” कमोड के पास खड़े हैं। जो आपको सिर्फ कमोड की ही तस्वीरें नहीं दिखाएंगे, बल्कि डिस्चार्ज यूरिन पोट्टी के रंग गंध के बारे में भी बताएंगे।

जी खिड़कीझांक जी बताईये क्या हालात हैं कमोड के।

जी “जबरघुस्स”जैसा कि आप देख रहे हैं की कमोड फ्लश किया जा चुका है। मगर ऐसे मौके पर आमतौर पर जो गंध मिलती है। उसकी बजाय पूरे वातावरण में नवरत्न तेल की महक आ रही है। फ्लश कर जाने के बाद मुश्किल कुछ साक्ष्य नजर आ रहे हैं। जिसमे कमोड में हल्का पीलापन है,जैसे लग रहा है। बचपन्न साहब ने रात को हल्दी वाला काढ़ा पिया था। जो यूरिन के रूप में मौजदू नजर आ रहा है। वहीं बात पोट्टी की जाय तो हमारे दर्शकों को थोड़ा निराश होना पड़ेगा। क्योंकि वैक्यूम कमोड होने के कारण सब खींचा जा चुका है। हालांकि सीवर चेम्बर के पास हमारे स्ट्रिंगर “खोद निपोर” जी पोट्टी एक्सपर्ट “जो कहें वही सही” साहब के साथ खड़े हैं। जी जबरघुस्स।

जी खिड़कीझांक, फिलहाल आप खिड़की पर बने रहिये। हम चलते हैं सीवर चेम्बर के पास जहां हमारे स्ट्रिंगर खोद निपोर पोट्टी एक्सपर्ट जो कहें वही सही साहब के पास।

जी एक्सपर्ट जी हमारे दर्शकों को बतायें।

हमने पोट्टी को देखा है जैसा कि अमूमन देखने में आता है। मगर यह उस तरह से नजर नहीं आ रहा है,इसमें डालबर च्यवनप्राश की बेहद कमी दिख रही है। वहीं केडबरी कुछ मीठा हो जाय कि अधिकता है। जिसे मैंगी खाकर नॉर्मल किया जा सकता है।

शुक्रिया जो कहें वही सही साहब इस जानकारी के लिए। आप दर्शकों तक यह बड़ी हम पहुँचा रहे हैं। “ले पीपी” न्यूज से।

पत्रकारिता की तियाँ पांच कर डाले, ये सियाले चैनल वाले। बस टीआरपी वाली खबर, जनसरोकार से मतलब ही नहीं।

error: Content is protected !!