Breaking Crime Politics Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

मनबढ़ई पड़ी भारी : BJP IT Cell के सह संयोजक से मारपीट के आरोप में SI सहित पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, FIR दर्ज

Varanasi : लंका थाना क्षेत्र (lanka police station) के नगवा पुलिस चौकी पर तैनात दरोगा (Sub Inspector) और चार सिपाहियों को DCP काशी आरएस गौतम ने सस्पेंड (Suspend) कर दिया है। कार्रवाई भाजपा आईटी सेल (BJP IT Cell) के सह-संयोजक की तहरीर पर की गयी है। तहरीर के अंतर्गत सभी पुलिसकर्मियों पर मुकदमा (Case) भी दर्ज किया गया है। आरोप है कि इन सभी ने बीजेपी नेता के साथ माटपीट की। उन्हें लॉकअप में डाल दिया। छोड़ने के लिए पैसे की डिमांड की। मंगलवार की रात भाजपा कार्यकर्ताओं ने लंका थाने पर प्रदर्शन भी किया था।

लंका थाना क्षेत्र के गंगा विहार कॉलोनी में रहने वाले रितिक मिश्रा ने दी गई तहरीर में लिखा है कि वह मंगलवार की रात अपने घर से विश्वनाथ मंदिर दर्शन करने जा रहे थे। नगवां पुलिस चौकी के पास बाइक सवार से उनकी बाइक लड़ गयी जिसके बाद वह व्यक्ति उनसे गाली गलौज करने लगा। इसपर वो उसे लेकर नगवा चौकी चले गए।

रितिक मिश्रा का आरोप है कि नगवां चौकी में दरोगा रवि शंकर निषाद और तीन सिपाही मौजूद थे। रितिक ने कहा कि दरोगा ने पुलिस चौकी आने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि बाइक टकरा गई है। इस पर दरोगा ने उनसे उनके हेलमेट के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि जल्दबाजी में छूट गया है। इस पर दरोगा और सिपाही उन्हें गाली देने लगे। विरोध करने पर सभी ने उनकी जमकर पिटाई की और पैसे की मांग की।

रितिक ने आरोप लगते हुए अपनी तहरीर में लिखा है कि पैसा देने में असमर्थता जताने पर दरोगा रवि शंकर निषाद ने उनका पर्स, मोबाइल और बाइक की चाबी छीन ली। उन्हें ले जाकर लंका थाने के लॉकअप में बंद कर दिया। थाने में तैनात सिपाही राकेश यादव ने उन्हें छोड़ने के बदले में पैसे की मांग की। पैसा न देने पर गाली-गलौज करते हुए फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी भी दी।

DCP काशी आरएस गौतम ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा कायम कर जांच कराई जा रही है। जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर प्रकरण में आगे की कार्रवाई की जाएगी। सभी को सस्पेंड किया गया है।

You cannot copy content of this page