Varanasi उत्तर प्रदेश 

Varanasi में एक दिन के लिए बालिका सोनाली श्रीवास्तव को दिया गया कैंट थाने का चार्ज, ये है वजह

Varanasi : विश्‍व में हर साल 20 नवंबर को अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस बच्चों से जुड़े मुद्दों के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। इसी क्रम में वाराणसी में भी सदर बाजार निवासिनी बालिका सोनाली श्रीवास्तव को एक दिन के लिये कैंट थाना प्रभारी बनाया गया।

इस दौरान घर से नाराज होकर आयी आजमगढ़ की रहने वाली बच्ची को उसके परिजनों के सामने बैठाकर मामले का निस्तारण भी किया गया। प्रशिक्षु सीओ आस्था जायसवाल भी मौजूद थीं।

बाल अधिकारों की हुई थी घोषणा

20 नवंबर का बाल दिवस के रूप में महत्व इसलिए और बढ़ जाता है क्योंकि आज ही के दिन 1959 में संयुक्त राष्ट्र की आम सभा (जनरल असेंबली) ने बाल अधिकारों की घोषणा की थी। वयस्कों से अलग बच्चों के अधिकारों को बाल अधिकार कहा जाता है। बाल अधिकारों को चार अलग-अलग भांगों में बांटा गया है इसमें जीवन जीने का अधिकार, संरक्षण का अधिकार, सहभागिता का अधिकार और विकास का अधिकार शामिल हैं।

You cannot copy content of this page