Breaking Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

फिर उफान की ओर गंगा : नौका संचालन पर रोक, जलस्तर में वृद्धि को देखते हुए प्रशासन अलर्ट

Varanasi : गंगा के जलस्तर में फिर से इजाफा देखने को मिल रहा है। वेस्ट यूपी में भारी बारिश की वजह से गंगा में पानी फिर से बढ़ गया है। केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार दोपहर 12 बजे तक गंगा का जलस्तर 66.66 मीटर पर आ गया है।

जबकि, बुधवार को सुबह 10 बजे तक गंगा का जलस्तर 65.48 मीटर पर दर्ज किया गया था। दो दिन में घाट की करीब 10 सीढ़ियां डूब चुकी हैं। दो महीने से घाटाें का आपसी संपर्क नहीं जुड़ पाया है। सैलानी एक ही घाट पर आ रहे और वहीं से गंगा दर्शन कर लौट जा रहे।

गंगापार के रेत भी अब नहीं बचे हैं। वहीं, घाटों पर स्नान करने में काफी दिक्कतें हो रहीं हैं। गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालुओं में भी भारी कमी देखी जा रही है।

नाव संचालन पर लगी रोक से नाविक बेहद दुखी हैं। नाविकों का कहना है कि अक्टूबर में गंगा का जलस्तर सामान्य स्तर पर आ जाती हैं। ऐसा पहली बार देखा जा रहा है कि गंगा का पानी अभी भी सभी घाटों को डूबो दिया है।

नौका संचालन बंद होने से हमारे आय का साधन चौपट हो गया है। देव दीपावली को लेकर जिन लोगों ने नाव की बुकिंग कराई थी, वे लोग कैंसिल करा रहे हैं। हम नाविकों के लिए यह आपात की स्थिति है। हालांकि गंगा के जलस्तर में वृद्धि को देखते हुए प्रशासन अलर्ट हो गया है।

सभी प्रकार की नावों का संचालन फिलहाल रोक दिया गया है। जल पुलिस प्रभारी ने नाविकों से अपील की है कि वे अपनी नावों को वापस ले आएं। प्रशासन की ओर से निगरानी की जा रही है।

You cannot copy content of this page