Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

झाड़-फूक से कर रहे थे बीमारियों के इलाज का दावा : पुलिस ने अफवाह फैलाने पर दर्ज किया मुकदमा, हुए फरार

Varanasi : कैंसर, दिव्यांगता, बहरापन या भूत-प्रेत के चक्कर से निजात दिलाने का ढोंग कर जनता को ठगने वाले एक बाबा की रामनगर पुलिस तलाश कर रही है। इस सम्बन्ध में सूजाबाद चौकी इंचार्ज ने रामनगर थाने में तहरीर दी है। कथित बिहार का रहने वाला और अपने सहयोगी के साथ डोमरी गांव में डेरा जमाये था। पुलिस को जब सूचना मिली तो पहले उन्होंने उन्हें समझाया की अफवाह न फैलाएं पर जब नहीं माने तो मुकदमा दर्ज किया गया पर तब तक बाबा और उसका सहयोगी फरार हो गए, जिनकी तलाश में पुलिस जुट गयी है। पुलिस की दो टीमें दोनों तथाकथित बाबाओं की तलाश कर रही हैं।

इस सम्बन्ध में सूजाबाद चौकी प्रभारी मोहम्मद सुफियान ने बताया कि रोज की तरह डोमरी गांव में गश्त की जा रही थी तो देखा गया कि लाल बाबा मंदिर पर भारी भीड़ एकत्रित है। पता किया तो लोगों ने बताया कि पुजारी बाबा राम भरोस ने वहां बिहार के कैमूर के सिकंदरपुर के रहने वाले बाबा मुकेश नोनिया को बुलाया है, जिसका दावा है कि वह कई बीमारियों को अपने मन्त्र से ठीक कर सकता है। मौके पर करीब से जाकर देखा गया तो मुकेश नोनिया लोगों को सम्बोधित कर रहा था और दावा कर रहा था कि वह कोई भी बीमारी अपनी झाड़-फूंक के सहारे ठीक कर सकता है। इसके साथ गूंगेपन, बहरेपन, किसी भी तरह की विकलांगता और भूत-प्रेत से पीड़ित लोगों को भी वह अपनी झाड़-फूंक के सहारे ठीक कर देता है।

दरोगा मोहम्मद सूफियान ने कहा कि उन्होंने भीड़ में शामिल लोगों से पूछा तो पता लगा कि स्थानीय लोगों के साथ ही वहां मध्य प्रदेश, बिहार और झारखंड से भी लोग आए थे। उन्होंने लोगों को समझाया कि किसी भी बीमारी का उपचार कोई तांत्रिक नहीं कर सकता है तो कोई उनकी बात सुनने को तैयार ही नहीं था। हालांकि किसी तरह से उन्होंने मंदिर से भीड़ को हटाया।

दरोगा मोहम्मद सूफियान ने कहा कि बाबा मुकेश नोनिया और बाबा रामभरोस द्वारा इस तरह से भीड़ जुटाए जाने से कोई अप्रिय घटना घट सकती है। इसलिए उन्होंने दोनों के खिलाफ उचित कार्रवाई के लिए रामनगर थाने में तहरीर दी। उधर, इस संबंध में रामनगर थाना प्रभारी अश्विनी पांडेय ने बताया कि दोनों तथाकथित बाबाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी गई है।

You cannot copy content of this page