Breaking Crime Varanasi पूर्वांचल 

ठग कंपनी नीलगिरि इंफ्रासिटी प्रकरण : पुलिस ने एक और अभियुक्त को पकड़ा, इस तरह कर रहा था कमाई

Varanasi : जमीन और गोल्ड में निवेश के साथ टूर पैकेज के नाम पर लोगों के साथ करोड़ों रुपये की ठगी करने के मामले में नीलगिरी इंफ्रासिटी के खिलाफ शिकंजा कसता जा रहा है। पुलिस ने शनिवार को कंपनी में ब्रोकर के रूप में काम करने वाले वांछित को गिरफ्तार किया। अभियुक्त राजू उपाध्याय को निवास स्थान किरहिया बाजार तिराहा भेलूपुर से गिरफ्तार किया गया।

SHO चेतगंज ने बताया कि क्राइम केस नंबर 240/2024 की धारा 449, 420 और 409 से संबंधित वांछित अभियुक्त राजू उपाध्याय उर्फ राज कुमार उपाध्याय को किरहिया बाजार तिराहा थाना भेलूपुर वाराणसी से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसका चालान कर दिया है।

बताया कि वादी मुकदमा गोपाल जी गुप्ता पुत्र अशोक कुमार निवासी N 45/584 किरहिया रोड खोजवा बाजार भेलूपुर, आनंद कुमार ओझा पुत्र जय प्रकाश नारायण ओझा निवासी B 22/264 D-3J किरहिया, खोजवा और नटवर लाल पाण्डेय पुत्र अवधेश पाण्डेय निवासी जनऊपुर थाना गड़वार बलिया की लिखित तहरीर के आधार पर चेतगंज थाने में उपरोक्त मुकदमें नीलगिरि इंफ्रासिटी कंपनी के CMD विकास सिंह, MD ऋतु सिंह, राजू उपाध्याय और अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध पंजीकृत किया गया था।

अभियुक्त राजू उपाध्याय उर्फ राज कुमार उपाध्याय ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि नीलगिरी इन्फ्रासिटी प्राइवेट लिमिटेड के लिए कंपनी में मैं बतौर ब्रोकर साल 2014 से कार्य कर रहा हूं। कंपनी में आने वाले ग्राहकों को प्लाट, जमीन दिखाकर उन्हे प्रोत्साहित कर जमीन खरीदवाया करता था, जिससे कंपनी द्वारा ग्राहकों से जो भी धन प्राप्त होता था उसका लाभांश कंपनी के माध्यम से मुझे मिलता था।

You cannot copy content of this page