Health Varanasi 

कल अंतरराष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस : रैलियों, क्विज और पोस्टर प्रतियोगिताओं के जरिये किया जाएगा जागरूक, मिथकों को तोड़ने पर जोर

Varanasi : मासिक धर्म के दौरान किशोरियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए 28 मई को ‘अन्तराष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस’ मनाया जायेगा। इस दिन जिले में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा जिसमें उन्हें पीरियड्स के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के प्रति सचेत करने के साथ ही खुद को इंफेक्शन से दूर रहने के तौर-तरीकों से अवगत कराया जायेगा। रैलियों, क्विज व पोस्टर प्रतियोगिताओं के माध्यम से उन्हें माहवारी को लेकर मिथकों, गलतफहमियों को तोड़ने पर भी जोर दिया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि प्रति वर्ष 28 मई को अन्तराष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष भी इस दिन राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत जिले में विभिन्न जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। इसमें किशोरियों में माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के लिए सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जायेगा।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश प्रसाद ने बताया कि इस आयोजन का मुख्य मकसद किशोरियों को पीरियड्स के दौरान अपने स्वास्थ्य को लेकर सचेत करना है ताकि वह गंभीर बीमारियों से बच सकें। इसके लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता विभिन्न विद्यालयों का भी दौरा करेंगे और वहां कार्यक्रमों का आयोजन कर किशोरियों को माहवारी स्वच्छता प्रबंधन से सम्बन्धित जानकारी देंगे।

जिला महिला चिकित्सालय की डॉ. मधुलिका पाण्डेय ने बताया कि पीरियड्स के बारे में किशोरियां व महिलायें आज के दौर में भी बात करने में झिझकती हैं। इनमें अधिकांश को यह नहीं पता होता कि उन्हें मासिक धर्म के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। नतीजा होता है कि इस नासमझी में वह इस दौरान तमाम गंभीर बीमारियों को आमंत्रित कर लेती हैं। जिसका उनके स्वास्थ पर बुरा प्रभाव पड़ता है। आज भी बहुत सी महिलायें पीरियड्स में सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल नहीं करती हैं। वे कपड़े का इस्तेमाल करती हैं यदि कपड़ा साफ-सुथरा न हो या कपड़ा इस्तेमाल करने के बाद धुलकर उसे खुली हवा या धूप में सुखाने की बजाय छुपा कर सुखाती हैं तो इससे कपड़े में नमी बनी रहती है। पुनः ऐसे कपड़े का इस्तेमाल गंभीर संक्रमण को दावत देने के बराबर होता है। उन्होंने कहा कि ऐसी तमाम जानकारियां हैं जो किशोरियों व महिलाओं को जानना जरूरी है पर वह संकोच के कारण इन जानकारियों से दूर रहती है। ऐसे में अन्तर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस जैसे कार्यक्रम का आयोजन, इस दिशा में एक मजबूत कदम है। आयोजन से किशोरियों, महिलाओं को काफी लाभ होगा।

You cannot copy content of this page