Politics Varanasi उत्तर प्रदेश 

Varanasi : गरीबी मुक्त का उपाय अच्छी शिक्षा, नई शिक्षा नीति बहुत उपयोगी : राज्यपाल आनंदी बेन पटेल

Varanasi : तीन दिवसीय दौरे पर सोमवार को बनारस पहुंची यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने दौरे के पहले दिन शाम को सर्किट हाउस सभागार में आंगनवाड़ी कार्यक्रम, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम क्रियान्वयन, स्वयं सहायता समूह, स्वैच्छिक संगठनों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर बच्चों तथा महिलाओं के विकास को माइक्रो प्लान बना कर समाज के हर वर्ग को जोड़ते हुए कार्य करने का संदेश दिया। गत दो-तीन माह में इस क्षेत्र में बनारस में जो काम हुआ, उसके लिए राज्यपाल ने जिलाधिकारी सहित उनकी पूरी टीम को बधाई व धन्यवाद दिया। महामहिम ने कहा कि गरीबी मुक्त का उपाय अच्छी शिक्षा है इसमें सभी का दायित्व है। विश्वविद्यालयों के प्रोफेसर कुपोषित बच्चों एवं टीवी संक्रमित बच्चों को गोद ले। हर वर्ग सोशल रिस्पांसिबिलिटी ले। उद्योग जगत भी जुड़ें। यूनिवर्सिटी से जुड़े कॉलेज की प्रिंसिपल व अध्यापक जुड़े बच्चों को गोद ले और उन्हें कुपोषण व टीबी रोग से मुक्त कराने का कार्य कराएं। गांव का हर बच्चा जो 3 वर्ष का है आंगनवाड़ी में भर्ती हो, 6 वर्ष का बच्चा प्राइमरी स्कूल में दाखिल हो। बच्चों का ड्रॉप आउट एक फ़ीसदी से कम रहे, यह भी सजगता रखें। गांवो में 100 फ़ीसदी संस्थागत प्रसव हो। प्राइमरी के बाद भी सौ फीसदी बच्चे 9वी में प्रवेश ले। कन्या सुमंगला योजना भारत की सबसे अच्छी योजना है। इसमें हर पात्र लाभान्वित हो।

नई शिक्षा नीति बहुत उपयोगी है, इसमें शुरुआत से बच्चों के लिए अच्छे सिलेबस है। तीन, चार, पांच वर्ष के बच्चों के अलग-अलग प्रकार के सिलेबस हर क्षेत्र के यथा-पर्यावरण, साइंस, सोसायटी, कौशल विकास, सहकारिता, खेल किस स्तर के बच्चों को कौन विषय कैसे सिखाएं यह भली-भांति नई शिक्षा नीति में है। अभी पहल बुक आंगनवाड़ी केंद्र व प्राइमरी की अच्छी है। बच्चों की गांव में सामूहिक टूर कराएं, खेल कराएं, मंदिर आदि स्थल दिखाएं। संस्कारिता क्रियाकलापों की जानकारी दें। शैक्षिक कैलेंडर में नाश्ता व खाना की भी प्रावधानित करें। इससे बच्चे उत्साहित होते हैं।

error: Content is protected !!