Breaking Crime Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Varanasi Gyanvapi Case : फास्ट ट्रैक कोर्ट में आदि विश्वेश्वर विराजमान की सुनवाई का प्रकरण, 30 मई की मिली तारीख

Varanasi : विश्व वैदिक सनातन संघ (Vishwa Vedic Sanatan Sangh) द्वारा डाली गयी याचिका (petition) पर बुधवार को सुनवाई नहीं हो सकी। सिविल जज सीनियर डिवीजन के यहां आदि विश्वेश्वर विराजमान (Adi Vishweshwara Virajman) के नाम से डाली गयी इस याचिका को जज ने लंच के बाद फास्ट ट्रैक कोर्ट (fast track court) में ट्रांसफर किया था। फास्ट ट्रैक कोर्ट के सिविल जज सीनियर डिवीजन महेंद्र कुमार पांडेय (Civil Judge Senior Division Mahendra Kumar Pandey) की अनुपस्थित में इस मामले में आज सुनवाई नहीं हो सकी। कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख सोमवार 30 मई की दी है।

अंजुमन इंतेजामिया मसाजिद कमेटी के अधिवक्ता मेराजुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि सिविल कोर्ट ने अपने विवेक पर दायरा याचिका को फास्ट ट्रैक कोर्ट के सिविल जज सीनियर डिवीजन महेंद्र कुमार पांडेय की अदालत में ट्रांसफर किया है। जज की अनुपस्थिति में इस मामले में अगली तारीख 30 मई की दी गयी है।

याद होगा, मंगलवार को विश्व वैदिक सनातन संघ की अंतरराष्ट्रीय महामंत्री किरन सिंह बिसेन ने सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में एक वाद आदि विश्वेश्वर विराजमान के नाम से दाखिल किया था और तीन बिंदुओं पर खुद को वाद मित्र बनाते हुए न्याय की मांग की थी जिसे कोर्ट ने स्वीकार करते हुए आज की तारीख दी थी, लेकिन लंच के फौरन बाद ही सिविल कोर्ट ने इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया।

You cannot copy content of this page