Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Varanasi Gyanvapi Case : साध्वियों ने वाराणसी कोर्ट में दी अर्जी, एक साथ हो ज्ञानवापी मस्जिद से जुड़े सभी मसलों की सुनवाई

Varanasi : साध्वी पूर्णाम्बा और साध्वी शारदाम्बा ने सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में प्रार्थना पत्र दायर कर ज्ञानवापी मस्जिद से जुड़े सभी वादों की सुनवाई एक साथ कराये जाने की मांग की है। फिलहाल उनकी इस याचिका पर जज ने उनके मुकदमें में पूर्व निर्धारित तिथि 6 जुलाई 2022 पर ही सुनवाई की बात करते हुए प्रार्थना पत्र पर पुट ऑन फिक्स्ड डेट का आदेश दिया है।

दोनों साध्वी के अधिवक्ता रमेश उपाध्याय ने बताया कि साध्वी पूर्णाम्बा और साध्वी शारदाम्बा ने अपने वाद संख्या 761/2021 में आज सिविल कोर्ट सीनियर डिवीजन की अदालत में एक प्रार्थना पत्र दिया कि ज्ञानवापी प्रकरण के सभी मामलों की सुनवाई एक साथ हो, ताकि न्याय लेने में सहूलियत हो और उसमें विलम्ब न हो, क्योंकि अलग-अलग मुकदमे अलग-अलग तरीके से देखे जायेंगे तो दिक्कत होगी। इसमें उन्होंने दर्शाया कि जैसे आज एक वाद में कमीशन की कार्रवाई पर मामला चल रहा है कल किसी और वाद में भी कमीशन की कार्रवाई की मांग की जा सकती है। ऐसे में हमारे और अन्य सभी मुकदमों को एक साथ सुना जाए।

अधिवक्ता रमेश उपाध्याय ने बताया कि ऐसा ही एक वाद रंजना अग्निहोत्री के द्वारा भी डाला गया है, जो 350/2021 है। इसी प्रकार से अन्य मुकदमें और भी दाखिल हैं, जो ज्ञानवापी से सम्बंधित हैं। सभी ने कहा है कि ये विशेश्वर का पार्ट है और पूर्व में यहां नंदी भगवान थे और यहां पूजा पाठ होता था और हमें उसकी अनुमति दी जाए। ऐसे में दोनों साध्वियों ने कोर्ट में प्रार्थना देकर सभी मुकदमों को एक साथ चलाने की मांग की है, ताकि जो भी फैसला हो वो सभी के लिए एक साथ हो और इससे समय की भी बचत होगी।

अधिवक्ता ने बताया कि इस प्रार्थना पत्र पर सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर ने पूर्व में तय तारीख 6 जुलाई 2022 पर ही हमारे वाद की सुनवाई की बात करते हुए प्रार्थना पत्र पर पुट ऑन फिक्स्ड डेट का आदेश दिया है, जबकि मेरी मांग थी की जो भी कमीशन की कार्रवाई है उसमे सभी वादियों को सुनकर एक साथ उन्हें ले जाकर कमीशन की कार्रवाई कराई जाए ताकि आने वाले समय में कोई और इसकी मांग न करे और कोई संशय न रह जाये।

You cannot copy content of this page