Breaking Crime Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Varanasi Gyanvapi Case : विश्व वैदिक सनातन संघ ने DM को भेजा लेटर, अध्यक्ष जीतेंद्र सिंह बिसेन ने कहा- कमीशन की वीडियोग्राफी और फोटो कोर्ट तक ही सिमित रहे

Varanasi : ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Mosque) के कोर्ट कमिश्नर सर्वे (Court commissioner’s survey) की कार्रवाई (action)14,15 और 16 मई (14, 15 and 16 May) को की गयी। इस दौरान पूरे परिसर की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी (videography and photography) कराई गयी है, जिसे कोर्ट (court) में जमा किया गया है।

ऐसे में विश्व वैदिक सनातन संघ (Vishwa Vedic Sanatan Sangh) के अध्यक्ष जीतेंद्र सिंह बिसेन (President Jitendra Singh Bisen) ने जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा (District Magistrate Kaushal Raj Sharma) को एक पत्र लिखकर इसपर चिंता जताई है और कहा है कि यह बहुत ही संवेदनशील मुद्दा (sensitive issue) है इसलिए ये वीडियोग्राफी और फोटो पब्लिक प्लेटफार्म (public platform) पर न आने पाए इसके लिए डीएम व्यवस्था करें ताकि देश में साम्प्रदायिक ताकतों (communal forces) को बल न मिलने पाए।

कोर्ट कमिश्नर विशाल सिंह द्वारा 19 मई को जिला जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर के यहां जमा किये गए कोर्ट कमीशन की रिपोर्ट और वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी भी साक्ष्य के रूप में जिला जज के यहां ट्रांसफर हुए हैं। ऐसे में वादी और प्रतिवादी पक्ष ने इन साख्यों की कॉपी की मांग की है।

ऐसे में विश्व वैदिक सनातन संघ एक अध्यक्ष जीतेंद्र सिंह बिसेन ने एक लेटर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के नाम लिखा है। इस लेटर में जीतेंद्र सिंह बिसेन ने 6 पॉइंटर में इस मुद्दे को राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ते हुए कहा है कि ज्ञानवापी कमीशन की फोटोग्राफी या वीडियो का साक्ष्य सिर्फ कोर्ट तक सिमित होने चाहिए।

इन्हें किसी भी तरह से पब्लिक डोमेन में नहीं आना चाहिए। यदि ऐसा होता है तो राष्ट्रविरोधी ताकतें देश का साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ सकती हैं जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है।

जीतेंद्र सिंह बिसेन ने अपने पत्र में कहा है कि यदि कोई कमीशन की वीडियोग्राफी और फोटग्राफी किसी पब्लिक डोमिन में शेयर करता है तो उसके विरुद्ध नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई की जाए।

You cannot copy content of this page