Breaking Crime Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Varanasi Gyanvapi Mosque Survey : दीवार और मलबा हटाने वाली याचिका पर सुनवाई कल, प्रतिवादी से आपत्ति तलब, सर्वे रिपोर्ट पेश करने के लिए अदालत ने दो दिन का वक्त दिया

Varanasi : ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे (Gyanvapi Mosque Survey) के बाद मंगलवार को वादी पक्ष की तरफ से एक अन्य याचिका डाली गयी है। सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर के न्यायालय में डाली गयी इस याचिका में वादी संख्या 1 से 3 तक ने नंदी (Nandi) के मुख (mouth) की तरफ मौजूद तहखाने (basement) में स्थित मलबे और दीवार (Wall) हटाने और बचे हुए स्थान पर कोर्ट कमीशन (court commission) की कार्रवाई करवाने की बात कही थी।

वादी की याचिका संख्या 80 ग को सुनने के बाद सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर ने प्रतिवादी पक्ष से इस मामले में आपत्ति तलब करते हुए 18 मई बुधवार की तारीख दी है।

वादी महिलाओं रेखा पाठक, मंजू व्यास और सीता साहू ने सिविल जज सीनियर डिवीजन के न्यायालय में एक नयी याचिका आज सुबह दायर की थी। इसमें उन्होंने मांग की थी कि ‘ज्ञानवापी के कोर्ट कमीशन सर्वे के बाद मस्जिद काम्प्लेक्स में शिवलिंग मिला है जिसे न्यायालय ने सील करने का आदेश दिया है। इसके अलावा यह शिवलिंग जिस जगह स्थित है उसके पूरब तरफ एक दरवाजा है जिसे ईंट-पत्थर-सीमेंट से जोड़ाई करके बंद कर दिया गया है और नंदी के मुख की तरफ जो कॉरिडोर में स्थित है उनके सामने भी तहखाना है। उस तहखाने के उत्तरी तरफ दीवार खड़ा करके शिवलिंग को ढकते हुए ईंट और सीमेंट से जोड़ दिया गया है। ऐसे में वादी पक्ष ने मांग की है कि नंदी जी के मुख के सामने वाले तहखाने से ईंट-पत्थर बालू, बांस, बल्ली, मलबा हटाते हुए उत्तरी दीवाल हटाकर कमीशन ली करवाई करने देने का आदेश दिया जाए।’

साथ ही ‘शिवलिंग के पूरब तरफ दीवार-रास्ते को जो ईंट-पत्थर-सीमेंट से जोड़कर बंद किया गया उसको तथा नंदी के मुख के सामने तहखाने के उत्तरी दीवार को हटवाकर-तोड़कर मलबा हटवा कर प्राप्त शिवलिंग की कमीशन कार्रवाई करते हुए शिवलिंग की लम्बाई-चौड़ाई वा ऊंचाई की नाप कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया जाना आवश्यक और न्यायसंगत है।

इसके अलावा वादी पक्ष ने बैरिकेडिंग के अंदर पश्चिमी दीवार पर दरवाजे को ईंट-पत्थर से बंद कर दिया गया है जो मां के मंदिर में जाने का रास्ता है उसे (दरवाजे) खोलकर ईंट-पत्थर हटाकर अंदर मंडप का भी कमीशन कार्रवाई करने का आदेश दिया जाए। फिलहाल इसपर कल दो बजे सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर की कोर्ट में सुनवाई होगी। उधर, सर्वे रिपोर्ट पेश किए जाने के लिए अदालत की ओर से दो दिन का वक्त दिया गया है।

You cannot copy content of this page