Crime Varanasi 

Varanasi : कैवल्यधाम शूटआउट का खुलासा, इस वजह से विशाल को विकास और सिद्धार्थ ने मारी थी गोली, SSP बोले अभियुक्तों की मदद करने वालों की खैर नहीं

Varanasi : दुर्गाकुंड स्थित कैवल्यधाम शूटआउट की घटना का शनिवार को पुलिस ने खुलासा किया। क्राइम ब्रांच और भेलूपुर पुलिस की टीम ने बाइक सवार बदमाशों को धर दबोचा। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि, दोनों अभियुक्तों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। ईर्ष्या और जलन की भावना से हॉस्टल मैनेजर की हत्या की गई थी। पकड़े गए मुख्य अभियुक्त का परिचय उसी हॉस्टल में रहने वाली किसी छात्रा से रहा। उस छात्रा की दोस्ती हॉस्टल मैनेजर से भी थी। कुछ समय बाद छात्रा ने अभियुक्त से बात करना कम कर दिया। उसे लगा कि विशाल से दोस्ती होने के कारण छात्रा ने उससे बात करना बंद कर दिया है।

गुस्से में बन गया हत्यारा

खार के चलते अभियुक्त विकास राय ने अपने साथी सिद्धार्थ यादव उर्फ डिंप्पू के साथ मिलकर विशाल की हत्या की प्लानिंग की। हॉस्टल के गेट के बाहर उसे गोली मार दी। ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान विशाल की मौत हो गई। पकड़े गए अभियुक्त थाना सिंधौरा और फुलपुर के निवासी हैं। एसएसपी ने बताया कि कुछ लोगों ने घटना को अंजाम देने में भी अभियुक्तों का सहयोग किया है। घटना के बाद भी कुछ लोगों को जानकारी थी, जो दोषी बनेंगे। दोनों अभियुक्तों ने पूरी तरीके से अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त बाइक व असलहा भी बरामद कर लिया है।

इन्होंने पकड़ा

अभियुक्तों को पकड़ने में सीनियर सब इंस्पेक्टर सुधीर कुमार त्रिपाठी, चौकी इंचार्ज दुर्गाकुंड प्रकाश सिंह, चौकी इंचार्ज खोजवां रवि कुमार यादव, बजरडीहा चौकी इंचार्ज अजय वर्मा, अस्सी चौकी इंचार्ज दीपक कुमार, सब इंस्पेक्टर राहुल कुमार, गोविंद प्रसाद ओझा, क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर अश्वनी पांडेय, सब इंस्पेक्टर अरुण प्रताप सिंह आदि शामिल हैं।

You cannot copy content of this page