#Varanasi : Corona Virus से बचाव को लेकर एहतियात, जानवरों को खाना देने मिनी जू में अब जाएंगे सिर्फ दो वनकर्मी

#Varanasi : कोरोना वायरस (CoronaVirus) की चपेट में अब केवल इंसान ही नहीं बल्कि जानवर भी आ रहे हैं, वह भी एेसे जानवर जो आपके घरों में पल रहे हैं या फिर जू में रह रहे हैं। अमेरिका के न्यूयार्क में चिड़ियाघर में चार बाघिन और तीन शेर सहित दो पालतू बिल्लियों को कोरोना वायरस (CoronaVirus) संक्रमित पाए जाने के बाद भारत ने भी जीव-जन्तुओं को लेकर गंभीरता दिखाई है। सभी चिड़ियाघरों को हाई अलर्ट पर रहने के लिए कहा है।

केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण ने कोरोना वायरस (CoronaVirus) को लेकर कहा है कि भारत में चिड़ियाघरों को सलाह दी जाती है कि वे 24×7 जानवरों पर निगरानी रखें। जानवरों के किसी भी असामान्य व्यवहार या लक्षण के लिए सीसीटीवी के माध्यम से नजर रखें। इसी के तहत बनारस के मिनी जू के वन्य जीवों की सुरक्षा को लेकर वनकर्मी काफी चिंतित हैं। सारनाथ स्थित चिड़ियाघर को शनिवार को सेनेटाइज किया गया।

वन क्षेत्राधिकारी ए.के उपाध्याय ने बताया कि मिनी जू में रह रहे चीतल, काले हिरण, घड़ियाल, मगरमच्छ, हवाशील, लोहा सारस, सारस, जांघिल, लबबर्ड, बजरी, ईमू, काकटिल, तोता, सहित अन्य वन्य जीवों की सुरक्षा की चिंता अब वन विभाग के वनकर्मियों को होने लगी है। हर वन्य जीवों पर नजर रखी जा रही है। जलचर एंव छोटे पक्षियों के बाड़ों के अंदर भी सेनिटाइज किया गया। मिनी जू में चिन्हित वनकर्मी ही वन्य जीव की देखभाल करेंगे। मिनी जू में अब खाना लेकर आने वाले भी बाहर ही मछलियां रखेंगे। मछलियों को गर्म पानी में रखने के बाद सेनेटाइज वनकर्मी ही ले जाकर खाने के लिए देगा। अब केवल दो वनकर्मी ही अंदर जायेंगे। हर किसी को इजाजत नहीं है।