Crime Varanasi 

Varanasi : चाचा ही निकला भतीजे का हत्यारा, घायल भाई बादल ने बताया सच, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

Varanasi(Aajexpress) : चौबेपुर के मुरदीपुर गांव में शनिवार की भोर में दो सगे भाइयों पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। जिसमें एक की मौत हो गई थी, जबकि दूसरा घायल है। उक्त घटना के संदर्भ में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 24 घण्टे के भीतर ही घटना का खुलासा कर दिया। एसपी ग्रामीण एमपी सिंह ने बताया कि दोनों किशोर के चाचा विनय सिंह ने भतीजों पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला कर दिया। पिता जयप्रकाश की तहरीर आरोपित चाचा विनय सिंह और चाची श्वेता सिंह पर हत्या और हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपित चाची को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि चाचा फरार है, तलाश की जा रही है।

पुलिस के अनुसार घटना के पीछे की वजह मृत सूरज उर्फ अमन का अपने चाची के साथ अनैतिक संबंध की बात है। उसी शक में विनय उसकी हत्या कर दी। घटना के पूर्व विनय का अपनी पत्नी से रात में झगड़ा हुआ था। भोर में चार बजे वह कुल्हाड़ी लेकर आया सोते समय सूरज के चेहरे और गले पर ताबड़तोड़ वार करने लगा। उसकी चीख सुनकर बादल जग गया और बचाने आया तो उस पर भी चार-पांच बार वार कर दिया। सूरज के चेहरे और गले पर गंभीर चोट आई, जबकि बादल के दोनों हाथ, शरीर पर कई जगह चोट लगी। दोनों चिल्लाते हुए कमरे से बाहर आये। चाची ने बाथरूम में छिपकर जान बचाई।

घायल बादल ने बताया सच

सूरज और पत्नी के बीच अनैतिक संबंध को लेकर शक में विनय परेशान था। इस कारण वह अक्सर पत्नी से लड़ाई करता था। शुक्रवार की रात और घटना के पहले भी विवाद किया था। सूरज पर हमले के दौरान जग गये बादल को भी वह मारना चाह रहा था। वह नहीं बचा होता तो पुलिस को विनय के खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं मिल पाते। आरोपित चाची से बार-बार पूछताछ में वह बरगलाती रही।

तीन महीने से देख रहा था क्राइम पेट्रोल

आरोपी चाची ने पुलिस को पूरी कहानी बता दी। आरोपित पहले से हत्या की योजना बना रहा था और बच निकलने की तरकीब भी सोचता था। इसके लिए वह पिछले दो-तीन महीने से ‘क्राइम पेट्रोल’ देखता था। बताया कि उसने 10 दिन पहले कुल्हाड़ी खरीदी थी। हत्या के बाद विनय ने अपना मोबाइल भी घर पर छोड़ दिया, ताकि लोकेशन से उसे ट्रैश ना किया जा सके। पुलिस सूत्रों के मुताबिक अनैतिक संबंध से आजिज विनय अपनी पत्नी की जान भी लेना चाहता था। वह पत्नी और सूरज को खत्म करने के लिए आया था।

पिता ने बताई ये वजह

मृतक के पिता जयप्रकाश ने 10 दिन पहले के विवाद को वजह बताया है। पुलिस को दी गई तहरीर में बताया है कि 10 दिन पहले निर्माण सामग्री का ढुलाई की जा रही थी। इस दौरान विनय दोनों बेटों के सिर पर अधिक वजन लाद रहा था। इसे लेकर विनय को डांटा तो विवाद कर लिया। इसी से खुन्नस खाये विनय ने उनके दोनों बेटों पर हमला किया।

लॉकडाउन में लौट आये थे

जयप्रकाश दोनों भाइयों अजय और विनय के साथ मुंबई में ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय करते थे। लॉकडाउन के बाद जयप्रकाश आजमगढ़ में काम करने लगे। विनय वहां उनकी मदद करता है। दूसरे नंबर का भाई अजय परिवार समेत मुंबई में ही है। गांव में जयप्रकाश की पत्नी रेखा 17 वर्षीय सूरज और 14 वर्षीय बादल, पिता राजकिशोर, मां प्रभावती और सबसे छोटे भाई विनय की पत्नी एक साल के बेटे के साथ रहती थी। 20 दिन पहले रेखा रिश्तेदारी में चली गई।

error: Content is protected !!