Varanasi 

विश्व पर्यावरण दिवस : नवग्रह वाटिका में लगाए गए तुलसी के पौधे, लोग बोले- पेड़ प्रकृति का वरदान, सदा रखें इनका ध्यन

Vicky Madhyani

Varanasi : परमानंद नवग्रह वाटिका में पर्यावरण दिवस पर पर्यावरण और उपभोक्ता संरक्षण समिति के तत्वाधान में हजारों पौधे लगाए कर लोगों को प्रकृति सुरक्षा के लिए जागरूक किया गया। इस दौरान मौजूद लोगों ने कहा कि प्रकृति से खिलवाड़ करके लोग अपने ही पैरों पर कुल्हाड़ी मार रहा हैं। विज्ञान की मदद से मानव चांद पर भी चला गया है, पर जिस हिसाब से आधुनिकता के नाम पर उसने प्रकृति से छेड़छाड़ की है उसका खामियाजा तो हर हाल में मानव को ही भुगतना है।

कहा, अगर समय रहते हम नहीं चेते और पर्यावरण को बचाने के बारे में नहीं सोचा तो इसका भयंकर परिणाम भुगतना होगा। सौर-मंडल में केवल हमारी पृथ्वी पर ही जीवन है। ये अधिक दिनों तक संभव नहीं है। हमें समय रहते पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त करके इसे सुरक्षित करना है। उपभोक्ता संरक्षण समिति ने रविवार हजारों तुलसी के पेड़ लगाए। बच्चों को वितरित किए।

लोगों में पर्यावरण सुरक्षा के लिए जानकारी साझा करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने अपने संबोधन में बताया कि पर्यावरण दिवस पर सामान्यता होता यह है कि संस्थाएं पेड़ लगा कर फोटो खिंचवा कर पब्लिक सिटी करने के बाद वह ध्यान नहीं देती कि लगे हुए पेड़ बचे हैं कि नहीं इसलिए हम लोगों ने निर्णय लिया है कि बच्चों को बुलाकर उन्हें पेड़ दिखाकर जागरूक करेंगे कि पेड़ हमारे लिए कितने उपयोगी हैं और ये हमारे जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

इस अवसर पर पर्यावरण और उपभोक्ता संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव प्रकाश सिंह ने बताया कि हमारा नवग्रह वाटिका बनाने का उद्देश्य रहा कि लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया जा सके। उन्होंने कहा कि आज नवग्रह वाटिका में हजारों पेड़ लगाए गए और जब पेड़ बचे रहेंगे तभी हमारा जीवन संभव है।लगातार पेड़ों के कटने से तापमान में काफी बढ़ोतरी हुई है जिसके चलते मौसम असामान्य हो गया है। और यदि समय रहते हम जागरूक नहीं हुए तो इसका खामियाजा हम सभी को भुगतना होगा। एक स्कूल के बच्चों के साथ पर्यावरण और विकास समिति के रवि शंकर, मनीष चौरसिया, राजेश, कृष्णा पांडेय, उज्जवल पाल, श्रुति, उत्कर्ष, श्रेया और लोग मौजूद थे।

You cannot copy content of this page