धर्म-कर्म 

हथेली की लकीरें बताएंगी कब होगी आपकी शादी, जानिए कैसे बीतेगा आपका दांपत्य जीवन

हर व्यक्ति अपने भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए उत्सुक रहता है। हर व्यक्ति जानना चाहता है कि आने वाले भविष्य में जीवन कैसा होगा, विवाह कब और किससे होगा। विवाह के बाद दांपत्य जीवन कैसा रहेगा आदि। यह सवाल अधिकतर लोगों के मन में होते हैं। तो बता दें कि इन सभी सवालों के जवाब हस्तरेखा शास्त्र से मिलते हैं। व्यक्ति की रेखाएं उनकी लव लाइफ के बारे में कई राज खोलती हैं। इन रेखाओं को पढ़कर ज्योतिष प्यार, शागी और रिश्तों की गहराई के बारे में जानकारी देते हैं।

ऐसे में अगर आपके मन में भी अपनी शादी को लेकर हजारों सवाल हैं औऱ आप भी इन सवालों के जवाब पाना चाहते हैं। तो यह आर्टिकल आपके लिए है। क्योंकि आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको हथेली में मौजूद विवाह रेखा के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसकी मदद से आप भी अपनी रेखाओं को समझ सकते हैं।

शादी की रेखा

हस्तरेखा शास्त्र के हिसाब से सबसे छोटी उंगली के नीचे हृदय रेखा के ऊपर हाथ के बाहरी भाग से शुरू होकर जो रेखा बुध पर्वत की ओर जाती है, उसको विवाह रेखा कहते हैं। इस रेखा के आसपास अन्य कई रेखाएं भी होती हैं। इन रेखाओं से पता लगाया जाता है कि जातक का विवाह कब होगा और विवाह के बाद दांपत्य जीवन कैसा रहने वाला है।

लव मैरिज या अरेंज मैरिज

हस्तरेखा शास्त्र के मुताबिक, जिस जातक की विवाह रेखा पर वर्ग का निशान बनता है, उसकी लव मैरिज होती है। वहीं यह रेखा इस बात का भी संकेत देती है कि शादी से पहले आपके कितने रिश्ते हो सकते हैं। वहीं विवाह रेखा के स्पष्ट नहीं होने पर व्यक्ति को कई ब्रेकअप का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही जब व्यक्ति की हथेली पर शुक्र पर्वत अधिक उभरा व स्पष्ट नजर आता है, तो लव मैरिज के योग बनते हैं।

शुभ होती है ये रेखा

अगर हथेली में विवाह रेखा गहरी, लंबी और स्पष्ट होती है। तो इस रेखा को भाग्यशाली माना जाता है। ऐसी रेखा वाले व्यक्ति का दांपत्य जीवन खुशनुमा और प्यार से भरपूर होगा। ऐसे जातकों को प्यार करने वाला पार्टनर मिलता है दोनों के बीच बेहतर तालमेल बना रहेगा।

विवाह में देरी

जब किसी जातक की कुंडली में मंगल ग्रह अशुभ स्थिति में होता है, तो शादी में देरी होती है। ऐसा व्यक्ति कितना ही प्रयास कर ले, लेकिन उसकी शादी में किसी न किसी तरह की देरी आती रहती है। हथेली में एक रेखा ऐसी भी होती है, जो विवाह में देरी की स्थिति को दर्शाती है। अगर हथेली में स्थित विवाह रेखा को कोई अन्य रेखा काट रही है, तब भी जातक के विवाह में देरी होती है।

जल्द शादी के योग

यदि किसी जातक की विवाह रेखा के पास त्रिशूल जैसा कोई निशान होता है, तो ऐसे व्यक्ति को प्यार करने वाला पार्टनर मिलता है। हृदय रेखा के पास विवाह रेखा होने से जातक की शादी 20-22 साल की उम्र में होने की संभावना होती है। हालांकि ऐसे व्यक्ति के जीवन में काफी उतार-चढ़ाव आते हैं।

Related posts

You cannot copy content of this page