धर्म-कर्म वाराणसी 

12 लोगों का दीक्षा संस्कार कराया गया : गंगा दशहरा, गायत्री जयंती और पंडित श्रीराम शर्मा के निर्वाण दिवस पर विविध कार्यक्रम का आयोजन

Varanasi : गंगा दशहरा, गायत्री जयंती और पण्डित श्रीराम शर्मा आचार्य के निर्वाण दिवस पर विविध कार्यकम का आयोजन हुआ। इस दौरान युग सृजेता गायत्री शक्तिपीठ, दानुपुर, चांदमारी में नौ कुंडीय गायत्री महायज्ञ, विविध संस्कार और भंडारे का आयोजन जिला समन्वयक पण्डित गंगाधर उपाध्याय के संयोजन सम्पन्न हुआ।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार से आए बसंत कुमार गुप्ता, अम्ब्रीश सिंह और देवांश भारद्वाज की टोली ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ नौ कुंडीय गायत्री महायज्ञ में अग्निहोत्र कराया। कार्यक्रम में 12 लोगों का दीक्षा संस्कार, दो बच्चों का विद्यारंभ संस्कार और बच्चों का यज्ञोपीत कराया गया।

पुष्पा रानी ने एक गर्भवती महिला का गर्भोत्सव संस्कार (पुंशवन संस्कार) से संस्कारित कराया। इसी कड़ी में प्रज्ञा मण्डल, चांदपुर में पंच कुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन बेचू लाल के संयोजन में संपन्न हुआ। आचार्य कृष्ण कुमार ने गायत्री विधि-विधान से वैदिक मंत्रोचार के साथ अग्निहोत्र कराया। गायत्री शक्तिपीठ फूलपुर में भी पंचकुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन हुआ।

राजेश शास्त्री ने वैदिक मंत्रोचार के बीच पंचकुंडीय गायत्री महायज्ञ में आहुतियां प्रदान कराईं। गायत्री योग पीठ कोइरीपुर, बड़ागांव में श्रीनाथ मौर्य के संयोजन में पंच कुंडीय गायत्री यज्ञ सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला समन्वयक पण्डित गंगाधर उपाध्याय ने कहा कि माता गायत्री गंगा दशहरा के दिन ही मनुष्य में देवत्व और मानव जाति में सद्ज्ञान के लिए धरती पर अवतरित हुईं।

गायत्री महामंत्र के जप से मनुष्य के भीतर अप्रत्याशित परिवर्तन आता है। यज्ञ द्वारा वातावरण परिष्कार के साथ गंभीर से गंभीर रोगों का शमन किया जा सकता है। सद्ज्ञान गायत्री माता के रुप में एवम् सद्कर्म यज्ञ के रुप में हमारे लिए उपलब्ध है। आगे कहा कि परम पूज्य गुरुदेव का गंगा दशहरा के दिन 2 जून 1990 को महा निर्वाण हुआ था, इसलिए यह दिन गायत्री साधकों के लिए शोक का भी दिन है।

अंत में गुरुदेव, माता भगवती देवी और मां गायत्री का भव्य आरती उतारी गई। कार्यक्रम में मुख्य रुप से रमेश सिंह, आरएन यादव, बलराम उपाध्याय, नगीना कुमार, रामधनी पटेल, छोटे लाल, हरिशंकर मौर्या, ओम कुमार, बसंत वर्मा, अनिल पाण्डेय रामाश्रय अग्रहरी, भूपेश ठाकुर, पीयूष पाण्डेय, अजय लक्ष्मी सिंह, सावित्री सिंह, पुष्पा गुप्ता, शारदा यादव अरुणा गुप्ता, आशा पाण्डेय, रीता तिवारी, संगीता सिंह, सुमन उपाध्याय, श्रुति सिंह, गीता सिंह आदि ने अपनी सक्रिय भूमिका निभाई। यह जानकारी मीडिया प्रभारी रमन कुमार श्रीवस्तव ने साझा की है।

Related posts

You cannot copy content of this page